Home > ख़बरें > बाबरी पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले योगी ने लिया ऐतिहासिक फैसला, राम भक्तों ने की जय-जयकार

बाबरी पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले योगी ने लिया ऐतिहासिक फैसला, राम भक्तों ने की जय-जयकार

yogi-adityanath-ram-temple

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री का पद सँभालने के बाद पहली बार सीएम योगी आदित्यनाथ 31 मई को अयोध्या जायेंगे. पिछले पंद्रह सालों से आज तक जो किसी भी सीएम ने नहीं किया वो अब सीएम योगी करेंगे. वर्षों से अपनी कट्टर हिंदूवादी छवि के लिए पहचाने जाने वाले योगी आदित्यनाथ साल 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद ऐसे दूसरे मुख्यमंत्री बनेंगे जो रामलला के मंदिर जाएंगे. इससे पहले 2002 में ऐसा करने वाले राजनाथ सिंह पहले सीएम थे. और अब 15 सालों बाद सीएम योगी राम मंदिर में दर्शन करेंगे.

अयोध्या नगरी में फिर से स्थापित होगा राम राज्य

देश के सबसे बड़ा पर्यटन स्थल की सूचि में अब अयोध्या का नाम भी जोड़ दिया गया है. अयोध्या में आलिशान फाइव स्टार होटल, हाईटेक रेलवे स्टेशन और अत्याधुनिक परिसर से सुसज्जित किया जाएगा.पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए शहर और आसपास पर्यटन केंद्र बनाए जाएंगे. सरयू नदी के घाटों की सफाई कराई जाएगी और उनका सौंदर्यीकरण का काम किया जाएगा. रेलवे स्टेशन पर वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध कराइ जाएगी. साथ ही फैजाबाद में मौजूद हवाई पट्टी को घरेलू एयरपोर्ट के तौर पर विकसित किया जाएगा. सीएम योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद 225 करोड़ रुपए की लागत के रामायण संग्रहालय के लिए काफी समय से अटके हुए भूखंड को मंजूरी दे दी गई.

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा “इन सभी शहरों में हम एक पर्यटक परिसर बनाना चाहते हैं. पर्यटक यहां केवल एक दिन की यात्रा के रूप में घूमने नहीं आएं, बल्कि उनमें यहां रूकने की इच्छा पैदा करनी चाहिए. इसके पीछे का विचार स्थानीय व्यापार और उद्योग को बढ़ावा देना होगा . इस सूची के अन्य शहरों में गया, मथुरा, वाराणसी, सारनाथ, गोरखपुर, आगरा, अमृतसर, कन्याकुमारी और गुवाहाटी शामिल हैं.”


अयोध्या में क्या क्या करेंगे सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी 31 मई को फैजाबाद-अयोध्या डिविजन में विकस कार्य की समीक्षा करेंगे, इसके बाद वह महंत नृत्य गोपाल दास के जन्मोत्सव में भी हिस्सा लेंगे. महंत नृत्य गोपालदास रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष भी हैं. उसके बाद वह सुबह 8.35 के करीब अयोध्या के लिए रवाना होंगे. खबरों के मुताबिक, यहां से योगी सीधे हनुमानगढ़ी जाएंगे और राम मंदिर में पूजा करेंगे. उसके बाद महंत नृत्य गोपाल दास के जन्मोत्सव में शामिल होने से पहले सीएम रिव्यू मीटिंग करेंगे.

इसके बाद सीएम योगी दिगंबर अखाड़ा भी जा सकते हैं.दिगंबर अखाड़ा के महंत रह चुके रामचंद्र परमहंस भी अयोध्या आंदोलन का हिस्सा रहे थे और अपनी आखिरी सांस तक राम मंदिर बनवाने के लिए लड़ते रहे संघर्ष करते रहे थे.परमहंस और मुख्यमंत्री योगी के गुरु, गोरखनाथ मंदिर के प्रधान पुजारी महंत अवैद्यनाथ और योगी आदित्यनाथ ने कई वर्षों तक अयोध्या आंदोलन को सफल बनाने के लिए साथ काम किया है


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments