Home > ख़बरें > अभी-अभी : तनाव के बीच चीन ने की युद्ध की शुरुआत, अमेरिकी विमान से भिड़े चीनी लड़ाकू विमान

अभी-अभी : तनाव के बीच चीन ने की युद्ध की शुरुआत, अमेरिकी विमान से भिड़े चीनी लड़ाकू विमान

china-usa-jet-intercept

नई दिल्ली : सिक्किम में भारत-चीन विवाद तेजी से गहराता जा रहा है. चीन की अकड़ भी बढ़ रही है. चीन का केवल भारत के साथ ही नहीं बल्कि दक्षिण चीन सागर में जापान व् अन्य देशों के साथ भी झगड़ा चल रहा है, जिसके कारण अमेरिका ने भी चीन के खिलाफ कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. अभी-अभी अमेरिका से चीन को लेकर एक बेहद हैरानी भरी खबर सामने आ रही है, जिसके चीन को गंभीर नतीजे भुगतने पड़ सकते हैं.

पूर्वी चीन सागर में चीन का अमेरिकी जहाज पर हमला ?

चीन के दो लड़ाकू विमानों ने अमेरिका के एक निगरानी विमान पर हमला कर दिया, हालांकि इसमें किसी का कोई नुक्सान तो नहीं हुआ लेकिन अमेरिकी निगरानी विमान को वापस लौटना पड़ा. दरअसल अमेरिका के पेंटागन ने बताया है कि पूर्वी चीन सागर में रविवार को दो चीनी जे-10 लड़ाकू विमानों ने ‘‘असुरक्षित’’ तरीके से अमेरिकी नौसेना के एक निगरानी विमान को बाधित कर दिया.

पेंटागन के प्रवक्ता कैप्टन जेफ डेविस ने बताया कि अमेरिका का नौसैन्य विमान ईपी 3 पूर्वी चीन सागर के ऊपर अंतरराष्ट्रीय हवाई क्षेत्र में उड़ रहा था लेकिन इसी बीच इस विमान के मार्ग में दो चीनी जे 10 विमान आ गए और अमेरिकी विमान का मार्ग असुरक्षित तरीके से बाधित कर दिया. अमेरिकी विमान दर्घटनाग्रस्त भी हो सकता था.

अमेरिकी विमान को गिराने की साजिश !

उन्होंने कहा कि एक चीनी विमान तेजी से अमेरिकी विमान के ठीक नीचे आ गया और इसके बाद उसने अपनी गति एकदम से काफी धीमी कर दी. डेविस ने बताया कि चीनी विमान के एकदम से मार्ग में आ जाने और गति को धीमी कर देने के कारण विमान बाल-बाल टकराने से बचा. अमेरिकी विमान को टक्कर से बचाने के लिए अमेरिकी विमान चालक को वहां से वापस जाना पड़ा. हमने इसे बहुत निकटता से देखा. एक अन्य पेंटागन अधिकारी ने चीन के इस कदम को ‘‘असुरक्षित’’ बताया.


डेविस ने बताया कि चीन ने ये गुस्ताखी पूर्वी चीन सागर और पीले सागर के बीच के क्षेत्र में रविवार को की. चीनी लड़ाकू विमान कुछ देर वहां एक साथ उड़ान भरते रहे. पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में डेविस ने बताया कि विमान को सुरक्षित तरीके से बाधित किया जाना कोई नई बात नहीं है लेकिन चीन ने जिस तरह से अमेरिकी विमान का मार्ग बाधित किया वो सुरक्षित नहीं था और बड़ी दुर्घटना हो सकती थी.

घुसपैठ की साजिशें कर रहा चीन ?

आपको बता दें कि उत्तर कोरिया लगातार मिसाइलों के परिक्षण कर रहा है, जिसका अमेरिका व् कई अन्य देश विरोध कर रहे हैं. उत्तर कोरिया को बार-बार चेतावनी देने के बावजूद वहां के तानाशाह किम जोंग ने खतरनाक हथियारों के परिक्षण बंद नहीं किये हैं, उलटा अमेरिका को ही परमाणु युद्ध की धमकी दी है. उत्तर कोरिया को चेताने के लिए मार्च में जापान और अमेरिका की नौसैना ने पूर्वी चीन सागर में संयुक्त सैन्य अभ्यास भी किया था.

बताया जाता है कि उत्तर कोरिया को चीन का समर्थन प्राप्त है. चीन दक्षिण चीन सागर में घुसपैठ के लिए इतना आतुर है कि अंतर्राष्ट्रीय अदालत में केस हारने के बावजूद वो वहां घुसपैठ की कोशिशों में लगा हुआ है. बहरहाल अमेरिका के टोही विमान पर इस तरह से हमला करके चीन ने तनाव और बढ़ा लिया है, जिसका खामियाजा उसे भुगतना पड़ सकता है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments