Home > ख़बरें > चीन ने सुनाया मुस्लिमो के खिलाफ अब तक का सबसे बड़ा तानाशाही फरमान, पाकिस्तान में मची हाय तौबा

चीन ने सुनाया मुस्लिमो के खिलाफ अब तक का सबसे बड़ा तानाशाही फरमान, पाकिस्तान में मची हाय तौबा

पेइचिंग : चीन में मुस्लिम बहुल्य इलाके शिनिजियांग में अक्सर उइगर मुस्लिम पर अत्याचारों की खबरें आती रहती हैं. अकेले शिन्जियान प्रांत में ही उइगर मुस्लिमों की जनसख्या एक करोड़ के पार पहुंच गयी है. चीनी मीडिया के मुताबिक चीन में होने वाले किसी भी आतंकी हमले का सीधा कनेक्शन उइगर मुस्लिम से मिलता है. इस प्रान्त में उइगर मुस्लमान और चीनी सुरक्षाबलों के बीच अक्सर हिंसक झड़पें होती रहती हैं जो कभी कभी दंगो का रूप भी ले लेती हैं. इसी के चलते इस बार चीन के शी जिंगपिंग ने रमजान के महीने में मुसलमानो के खिलाफ ऐसा फैसला ले लिया है जिसे देख कर सारी दुनिया हैरान है.


उइगर मुस्लिमों की चीन में छीन ली जाएगी आज़ादी

चीन के अख़बार इंडिपेंडेंट के मुताबिक शिनजियांग प्रांत में मुस्लिम लोगो के रमजान महीने में रोज़ा रखने पर पाबन्दी लगाने का फरमान सुना दिया गया है. वर्ल्ड उइगर कांग्रेस के अनुसार चीनी अधिकारियों ने उइगर मुस्लिमों की सभी रेस्त्रां बंद रखने की मांग को ठुकरा दिया है. चीनी अधिकारियों ने कहा है की पुरे क्षेत्र में सभी रेस्त्रां खुले रहेंगे. शुक्रवार को नमाज़ न पढ़ पाएं इसके लिए छात्रों को सामूहिक पढाई में उपस्थित रहना अनिवार्य होगा. साथ ही कम्युनिस्ट फिल्में दिखाई जाएँगी और सभी खेलों में भाग लेना भी अनिवार्य होगा.सभी पब्लिक इमारतों पर 24 घंटे नज़र रक्खी जाएगी. ऐसे अनेक चीन ने कानून बनाएं जिससे मुस्लमान अपना यह धार्मिक महीना न मना पाएं.

कौन हैं उइगर मुस्लिम?

शिन्जियान प्रांत में एक करोड़ से ज़्यादा उइगर मुस्लिम रहते हैं.ये अपने आपको चीन का निवासी नहीं मानते हैं. ये अपने आपको तुर्क मूल का बताते हैं और तुर्की भाषा ही बोलते हैं. चीन अक्सर आतंकी हमलो का ज़िम्मेदार उइगर मुस्लिम समुदाय को ठहरता रहता है. इंडिपेंडेंट अख़बार के मुताबिक चीन की सख्त पाबंदी के कारण ही हजारों उइगर मुस्लिम युवक आतंकी संगठन आईएस में भी शामिल हो चुके हैं. पुरे चीन में 2 करोड़ से ज़्यादा मुस्लिम रहते हैं. यही नहीं यहाँ 30,000 से भी ज़्यादा मस्जिदें हैं और 10 कट्टर मुस्लिम संगठन हैं. इनमें से एक उइगर मुस्लिम समुदाय का संगठन है.


चीन के खिलाफ हल्ला बोल रक्खा है उइगर मुस्लिमों ने

शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों ने चीन का विभाजन करने के लिए “ईस्ट तुर्किस्तान इस्लामिक मूवमेंट” का आंदोलन चला रक्खा है जिसका मकसद है चीन से अपना अलग देश बना लेना. 2008 में शिनजियांग की राजधानी उरुमची में हिंसक झड़प में 200 से ज़्यादा हान चीनी लोग मारे गए थे. जिसके बाद 2009 में उरुमची में ही हान चीनियों ने दंगा कर दिया था जिसमें 160 से ज़्यादा उइगर मुस्लिम मारे गए थे.

नमाज़ नहीं पढ़ सकते , दाढ़ी नहीं बढ़ा सकते, बुर्का नहीं पहन सकते

2014 से चीनी सरकार ने सरकारी नौकरी करने वाले उइगर मुसलमानों की पांच वक्त की नमाज़ पर पाबंदी लगा रक्खी है. चीन में उइगर मुस्लिमों को दाढ़ी बढ़ाने की मनाही है. 2008 से दाढ़ी पर बैन लगा रक्खा है.उइगर महिला बुर्का करके पेट्रोल स्टेशन, बैंक और हॉस्पिटल नहीं जा सकतीं. उसे सरकारी नौकरी करने की भी मनाही है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments