Home > ख़बरें > भारी संख्या में चीनी सैनिक पहुंचे पाकिस्तान, भारत के खिलाफ उठाया ऐसा कदम, भारतीय सेना हैरान

भारी संख्या में चीनी सैनिक पहुंचे पाकिस्तान, भारत के खिलाफ उठाया ऐसा कदम, भारतीय सेना हैरान

china-army-in-pakistan

नई दिल्ली : डोकलाम विवाद में बुरी तरह मुँह की खाने के बाद पीछे हटने वाले चीन ने एक बार फिर भारत के साथ विश्वासघात करते हुए पीठ में छुरा भोंक दिया है. अभी-अभी आयी खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट ने सुरक्षा एजेंसियों को हैरानी में डाल दिया है. रिपोर्ट के मुताबिक़ चीन ने पाकिस्तान के रास्ते भारत की घेराबंदी करना शुरू कर दिया है. भारी संख्या में चीनी सैनिक भारत-पाकिस्तान की सीमा पर पहुंच गए हैं.


भारतीय सीमा पर पाकिस्तान के लिए बंकर और एयरबेस बना रही चीनी सेना

चीन भारत से लगती कश्मीर और गुजरात की सीमा पर दनादन एयरपोर्ट बनाये जा रहा है. चीनी सैनिकों की भारतीय सीमा के पास एयरपोर्ट बनाने की गति इतनी तेज है कि पिछले चार महीने में दो एयरपोर्ट बन चुके हैं और दो नए एयरपोर्ट निर्माणाधीन हैं.

पहला एयरपोर्ट राजस्थान की जैसलमेर के घोटारु सीमा के ठीक सामने 25 किलोमीटर की दूरी पर कदनवाली के खेरपुर में एयरबेस तैयार हो चुका है. पिछले कुछ महीनों में यहां पर भारी संख्या में चीनी सैनिक पहुंच गए हैं. भारत के लिए बड़े खतरे की बात ये भी है कि पाकिस्तान ने इस एयरबेस पर भारतीय मिग-21 जितनी क्षमता रखने वाले चीन से मिले चेनगुड जे-7 फाईटर विमान, जे.एफ-17 फाईटर विमान, वाई-8 रडार और कई अत्याधुनिक संसाधन तैनात कर दिए हैं.

बॉर्डर पर तेजी से एयरपोर्ट बना रहे चीनी सैनिक

इसी तरह बाड़मेर के मुनाबाव के सामने थारपारकर में भी चीनी सैनिक एयरपोर्ट बना रहे हैं. इसकी दूरी भी भारतीय सीमा से करीब 25 किलोमीटर है. ये एयरपोर्ट फिलहाल निर्माणाधीन है और इस पर तेजी से निर्माण कार्य किया जा रहा है.

बेहद गंभीर बात ये भी है कि केवल राजस्थान बॉर्डर पर ही नहीं बल्कि चीन के सैनिक गुजरात से लगते बॉर्डर के नजदीक भी एयरपोर्ट बना रहे हैं. गुजरात के सीमा के सामने केवल 20 किलोमीटर दूर मिठी में एक एयरपोर्ट बन रहा है.

रेल की पटरियां बिछा रहे चीनी सैनिक

इसी तरह से चीन-पाकिस्तान कॉरिडोर के नाम पर चीन ने पाकिस्तान में रेल पटरियां बिछाने का काम भी शुरू कर दिया है. खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक़ जैसलमेर के सामने पाकिस्तान के पीरकमाल और चोलिस्तान में बड़ी संख्या में चीनी सैनिक देखे जा रहे हैं. कई दशकों से वीरान पड़े इस रेगिस्तान में चीन की दिलचस्पी बढ़ना भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को हैरान करने वाला है.


खुफिया एजेंसियों को ये जानकारी भी मिली है कि पाकिस्तान के कराची, जकोकाबाद, क्वेटा, रावलपिंडी, सरगोडा, पेशावर, मेननवाली और रिशालपुर जैसे एयरबेस को चीनी सैनिक अत्याधुनिक बना रहे हैं और वहां पर काफी संख्या में चीनी सैनिक मौजूद हैं.

चोरी-छिपे बंकर बना रहे चीनी सैनिक

चीन की बदमाशी की इंतहा तो ये है कि वो ना केवल पाकिस्तान में सैन्य ठिकाने बना रहा है बल्कि बीकानेर से लेकर गुजरात के बॉर्डर पर पाकिस्तान सेना के लिए पक्के बंकर बनाने में भी मदद कर रहा है. चीनी सैनिक रेत के टीलों में पक्के बंकर का निर्माण कर रहे हैं, जिसे देख भारतीय सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गयी हैं.

सब कुछ चोरी छिपे किया जा रहा है, ताकि किसी को कानो-कान खबर तक ना हो. खुफिया जानकारी के मुताबिक़ चीनी सैनिक पाक फ़ौज के लिए अब तक 350 से ज्यादा बंकर तैयार कर चुके हैं. इन बंकरों को झाड़ियों के नीचे छुपाकर बनाया जा रहा है. साथ ही ऐसे पत्थरों का इस्तेमाल किया जा रहा है जिससे बंकर साफ-साफ नहीं दिखें.

डोकलाम में हार से तिलमिलाए चीन के इरादे खतरनाक

इतनी तैयारियों से साफ़ जाहिर है कि भले ही चीन ने डोकलाम में हार मानकर सेना पीछे हटा ली हो, मगर वो अपनी हार को स्वीकार नहीं कर पाया है और भारत के खिलाफ पाकिस्तान के साथ मिलकर साजिश कर रहा है. डोकलाम में सर्दियां शुरू होने के बावजूद चीन ने अपने सैनिक वापस नहीं बुलाये हैं. ऐसे भारत को हर पल सतर्क रहना होगा, चीन पूर्वी और पाकिस्तान के साथ मिलकर पश्चिमी सीमा दोनों ओर से हमला कर सकता है.

सबसे ज्यादा हैरानी की बात तो ये भी है कि भारत सरकार भले ही अंतर्राष्ट्रीय संधियों के कारण चीन के साथ व्यापार बंद नहीं कर सकती, मगर भारत की जनता भी चीनी उत्पादों का बहिष्कार करने में असफल रही है. चीनी मोबाईल फोन धड़ल्ले से भारतीय बाजार में बिक रहे हैं, भारतीय जनता सरकार की चेतावनी के बावजूद यूसी ब्राउज़र, यूसी न्यूज़ जैसी चीनी मोबाईल ऍप का भरपूर इस्तमाल कर रहे हैं, जिससे ना केवल चीन मोटा मुनाफ़ा कमा रहा है बल्कि भारतीय जानकारियां भी चोरी कर रहा है.


पीएम नरेंद्र मोदी से जुडी सभी खबरें व्हाट्सएप पर पाने के लिए 783 818 6121 पर Start लिख कर भेजें.

यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.


सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments