Home > ख़बरें > चीन का ठनका माथा, सुना दिया बेहद सनसनीखेज़ फैसला,एक ही झटके में तोड़ दी मुस्लिमों की कमर

चीन का ठनका माथा, सुना दिया बेहद सनसनीखेज़ फैसला,एक ही झटके में तोड़ दी मुस्लिमों की कमर

नई दिल्ली : कुछ वक़्त पहले भारत जैसे सबसे बड़े सेक्युलर देश जहाँ की 80 फीसदी हिन्दू के अपने त्योहारों पर आज कल पाबंदियां लग रही है. उस देश के पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने अपने पद त्यागते समय बयान दिया था कि अब भारत में मुस्लमान सुरक्षित नहीं रह गए हैं. तो वहीँ वामपंथी पत्रकारों और लेखकों ने अवार्ड लौटाकर तो कुछ अभिनेताओं ने भारत को असहिष्णु देश घोषित कर दिया था. ऐसे लोगों को इस वक़्त चीन से आ रही ये बड़ी खबर ज़रूर पढ़नी चाहिए. इससे उन्हें पता चलेगा असली असहिष्णु देश कहते किसे हैं. (सबूत के साथ देखें खबर)


चीन ने मुसलामानों को याद दिलाया छठी का दूध

पाकिसतन का सबसे बड़ा दोस्त चीन के शिनजियांग प्रान्त अब एक उइगर मुस्लिमों वाला बहुसंख्यक इलाका बन गया है. मुस्लिमों की संख्या यहाँ एक करोड़ से ज़्यादा पार कर चुकी है. अभी कुछ वक़्त पहले चीन ने कड़क फैसला सुनाते हुए सभी उइगर मुसलमानो से उनकी नमाज की चटाई और कुरान की प्रतियां जब्त करने का आदेश दे दिया था. भारत के मीडिया में ज़िक्र तक नहीं हुआ और ना ही किसी ने अपना अवार्ड लौटाया तो ना ही कोई नेता या मौलाना के पेट में दर्द हुआ. लेकिन अब जो खबर आ रही है वो तो 440 वोल्ट का झटका देगी भारत के मुसलमानों को.

इस फैसले से किया मुस्लिमों का जीना हराम !

अभी मिल रही खबर अनुसार चीन ने उइगर मुसलमानों के खिलाफ कुछ और कड़े सुरक्षा नियम बनाए हैं. चीन सरकार के नए कानून के तहत देशभर के किसी भी होटल में मुस्लिमों के ठहरने पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है. रेडियो फ्री एशिया के अनुसार दक्षिण चीन प्रशासन ने खबर मिलते ही एक नामी होटल के नियम तोड़ने के बाद उस पर करीब 15000 यूआन यानी 150000 रूपए का भारी जुरमाना भी लगाया है. मुस्लिमों को होटल से बाहर उठा के फेंक दिया गया. साथ ही कड़ी चेतावनी भी दी है कि हर एक कस्टमर की ID बराबर चेक की जाए. सभी होटल को कहा गया है कि ‘अपना डेटाबेस शेयर कर पुलिस को पूरी जानकारी देना ज़रूरी है. पुलिस किसी भी गेस्ट को चेक करने आ सकती है, जिससे उसे खतरा महसूस होगा.’

IS ने चीन को दी थी धमकी

दरअसल चीन का शिनजियांग प्रांत में मुस्लिम बहुसंख्यक हैं और चीन सरकार आतंकवाद और कट्टरपंथ को बढ़ावा देने के लिए उइगर मुसलमानों को ही जिम्मेदार ही मानती है. हाल के कुछ सालों में हुए दंगों में यहां कभी चीनी तो कभी मुस्लिम आबादी के सैकड़ों लोग मारे जा चुके हैं. इस्लामिक स्टेट (IS) ने इन्हीं उइगर मुस्लिमों का दमन किए जाने के आरोपों के मद्देनजर चीन में खून की नदी बहाने की धमकी भी दी थी.


चीन को कहा जा रहा है “खुली हवा वाला जेल”

जिसके बाद से चीन इन मुस्लिम आबादी के तरफ अब और ज़्यादा सतर्क हो गया है. इसके लिए उसने बेहद सख्त नियम तैयार किये हैं. जिसके बाद चीन के मुस्लिमों ने चीन को “खुली हवा वाला जेल” कहना शुरू कर दिया है. जैसे सबसे बड़ी मस्जिद में इबादत करने जा रहे मुस्लिम अब मेटल डिटेक्टर से तलाशी देकर प्रवेश करेंगे. 24 घंटे मस्जिदों पर पुलिस का कड़ा सुरक्षा पहरा और CCTV से निगरानी रखती है. यही नहीं शिनजियांग प्रांत में मुस्लिम लोगो के रमजान महीने में रोज़ा रखने पर पाबन्दी लगाने का फरमान भी सुना दिया गया था. और तो और चीन में दाढ़ी रखने पर आंशिक प्रतिबंध लगा हुआ है साथ ही सभी सार्वजनिक स्थानों पर बुर्का पहनने की भी मनाही है और किसी को भी सार्वजनिक तौर पर नमाज़ पढ़ने पर भी पाबंदी लगा दी जा चुकी है.

भारत में सब मौलाना की बोलती बंद

लेकिन फिर भी असहिष्णु देश भारत को बताया जाता है. रोहिंग्या मुस्लिमों पर दिन रात मौलाना चीख पुकार मचाते रहते हैं लेकिन मजाल है कि चीन तरफ कोई उंगली भी उठा दे. वापमंथी मीडिया भी ऐसे वक़्त में गाँधी के तीन बंदर की तरह बन जाती है न तो चीन में मुस्लिमों को देखती है न सुनती है और ना ही कुछ बोलती है. लेकिन रोहिंग्या मुस्लिम की खबर 24 घंटा चलाती है. जबकि म्यांमार में हिन्दुओं की भी अब कब्रें और नरसंहार की बात सामने आ चुकी है.

पीएम मोदी ने मुस्लिम महिलाओं को दी नयी ज़िन्दगी

सोच के देखिये अगर भारत में मोदी सरकार ऐसा कुछ भी फैसला कट्टरपंथियों के खिलाफ सुना दे तो सभी कैसे चीखना चिल्लाना शुरू कर देंगे. जबकी भारत में मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक से आज़ादी दी जाती है. यहाँ उनकी शिक्षा, रोज़गार और कुप्रथाओं से आज़ादी की बात होती है. अभी मोदी सरकार के ताज़ा फैसले के अनुसार अब मुस्लिम महिलाएं अकेले भी हज यात्रा पर जा सकती हैं. लेकिन फिर भी एक पूर्व उपराष्ट्रपति को भारत में मुस्लमान असुरक्षित लगते हैं.


यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments