Home > ख़बरें > आप केजरीवाल की ख़बरों में उलझे थे, वहां सुरक्षाबलों ने ले लिया सुकमा हमले का बदला, बिछा दी लाशें

आप केजरीवाल की ख़बरों में उलझे थे, वहां सुरक्षाबलों ने ले लिया सुकमा हमले का बदला, बिछा दी लाशें

crpf-encounter-naxals

नई दिल्ली : सुकमा में सीआरपीएफ के जवानों पर छिपकर हमला करने वाले नक्सलियों को ठिकाने लगाने के लिए पीएम मोदी ने जवानों को 75 दिनों की खुली छूट दे दीं थी, साथ ही उन्हें सख्त निर्देश भी दिए गए थे कि चाहे जितनी फाॅर्स क्यों ना लगानी पड़े लेकिन जल्द से जल्द नक्सलियों का सफाया किया जाए. अब खबर आ रही है कि जवानों ने अपना बदला ले लिया है.


छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का एनकाउंटर !

अभी-अभी छत्तीसगढ से आयी खबर के मुताबिक़ पंखाजुर में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ चल रही है. सूत्रों के मुताबिक़ काफी संख्या में नक्सली मारे गए है और मुठभेड़ अभी भी चल रही है. फिलहाल किसी भी जवान के हताहत होने की खबर नहीं आयी है. देश की सबसे बड़ी न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने भी ट्वीट किया है.


गुरुवार को सुबह बीएसएफ के जवान इलाके में सर्च ऑपरेशन कर रहे थे, तभी काफी संख्या में नक्सली बाहर निकले और बीएसएफ के जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी. नक्सलियों के हमला करते ही बीएसएफ के जवानों ने फ़ौरन अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायरिंग शुरू कर दी. बीएसएफ के बहादुर जवानों ने बेहद सटीक निशाने लगाते हुए एक के बाद एक कई नक्सलियों की लाशें बिछा दी. ख़बरों के मुताबिक़ अभी भी मुठभेड़ चल रही है, कुल कितने नक्सली मारे गए हैं, इसकी जानकारी मुठभेड़ ख़त्म होने के बाद ही पता चलेगी.

नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन की शुरुआत होने के पहले दिन भी सुरक्षाबलों ने 10 नक्सलियों को ढेर किया था. अभी कुछ ही दिन पहले भी सुरक्षाबलों ने छत्तीसगढ़ में सुकमा हमले में शामिल 9 माओवादियों समेत 19 नक्सलियों को धर दबोचा था और पूछताछ में उनसे अहम् जानकारियां हासिल की थी.

आकाओं को मार गिराने का निर्देश !

सुरक्षाबलों ने नक्सली लीडरों की हिट लिस्ट बनायीं है, जिसमे नक्सलियों के दक्षिणी बस्तर डिविजन का कमांडर राघु, जगरगुंडा एरिया कमिटी का हेड पापा राव और हिडमा शामिल हैं. जवानों पर हुए हमले का मास्टरमाइंड भी पीपुल्स लिब्रेशन गुरिल्ला आर्मी (पीएलजीए) की पहली बटालियन का कमांडर हिडमा ही है.

बस्तर में नक्सलियों की अलग-अलग कमिटियों के करीब 200 से 250 लीडर्स और एरिया कमांडर्स ऐसे हैं, जो आये दिन जवानों पर हमले की योजनाएं बनाते हैं और इसके लिए अक्सर झारखंड, ओडिशा और महाराष्ट्र का दौरा करते रहते हैं. नक्सलियों तक हथियार पहुंचाने का काम भी यही करते हैं और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा इन्हे हथियार मुहैय्या करवाए जाते हैं.

नक्सलियों की हिंसा पर सरकार सख्त !

वहीँ गृहमंत्रालय ने हाल ही में सीआरपीएफ की सबसे घातक कोबरा टीम के 2000 कमांडोज़ भी नक्सलियों के पीछे लगा दिए हैं. हर दिशा से नक्सलियों को घेर-घेर कर ठोका जा रहा है. जवानों पर हमला करने वाले नक्सली शायद भूल गए थे कि देश में अब मोदी सरकार है और यदि वो ये सोचते हैं कि सुरक्षाबलों के जवानों पर हमला करके उन्हें मार के वो जंगलों में छिप जाएंगे और सजा से बच जाएंगे तो ये उनकी बड़ी ग़लतफ़हमी ही होगी. दो हफ़्तों के अंदर -अंदर ना केवल सुरक्षाबलों ने उन्हें ढूंढ निकाला बल्कि एनकाउंटर भी कर दिया.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments