Home > ख़बरें > लालू के बाद पूर्व वित्त मंत्री पर भी चला मोदी का हंटर, सोनिया मैडम को भी दिखा अपना काला भविष्य

लालू के बाद पूर्व वित्त मंत्री पर भी चला मोदी का हंटर, सोनिया मैडम को भी दिखा अपना काला भविष्य

chidambaram-modi-sonia-gandhi

नई दिल्ली : हाल ही में एक निजी चैनल के इंटरव्यू में भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने साफ़-साफ़ कड़े शब्दों में कहा था कि मोदी सरकार पिछली यूपीए की सरकार में हुए जितने भी घोटाले और भ्रष्टाचार के मामले उठे थे, उन सब का कच्चा – चिट्ठा खोलेगी और बड़े लोगों के चेहरे बेनकाब करेगी. इसी सिलसिले में आज सुबह सीबीआई के दफ्तरों में काफी ज़ोर शोर से हलचल मचने लगी जिससे लगा कि आज कुछ बड़ा काम होने वाला है.


ANI न्यूज़ एजेंसी की ख़बरों के मुताबिक मंगलवार की सुबह सीबीआई ने कांग्रेस नेता पी.चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम के घर छापेमारी शुरू कर दी. सीबीआई ने कुल मिलाके 16 जगहों पर छापा मारा है. सीबीआई ने पी. चिदंबरम के चेन्नई, दिल्ली, नोएडा वाले घर पर और कार्ति चिदंबरम के कराईकुडी के घर में छापा मारा है. ख़बरों के मुताबिक माना जा रहा है कि सीबीआई ने यह बड़ी कार्रवाई एयरसेल-मैक्सिस डील और INX मीडिया को दी गई मंजूरी केस की जांच को लेकर की गई है.

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने पूर्व वित्तीय मंत्री पी. चिदंबरम पर आरोप लगाया था कि उन्होंने 3,500 करोड़ रुपये की एयरसेल मैक्सिस डील को कैबिनेट कमेटी की इजाज़त के बिना ही मंजूरी दी थी जबकि नियमों के मुताबिक कोई भी वित्तमंत्री 600 करोड़ रुपये तक की डील को ही मंजूरी दे सकता है. साथ ही INX मीडिया को गैर-कानूनी तरीके से दी गई मंजूरी को लेकर भी जाँच हो रही है. INX मीडिया के फंड को FIPB के जरिये मंजूरी दी गई थी, उस दौरान पी. चिदंबरम विभाग के वित्तीय मंत्री थे. सोमवार को सीबीआई ने इस मामले में एफआईआर दर्ज करा दी थी, जिसमें इंद्राणी मुखर्जी, पीटर मुखर्जी और कार्ति चिदंबरम का भी नाम शामिल था.


पी.चिदंबरम : मेरे खिलाफ साजिश रच रहा है केंद्र

अपने और अपने बेटे के खिलाफ सीबीआई की कार्रवाई पर पी.चितंबरम ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि एफआईपीबी की हर मंजूरी कानूनी प्रक्रिया के मुताबिक हुई है. सरकार सीबीआई का इस्तेमाल करके मुझे और मेरे बेटे को फ़साना चाहती है. आगे उन्होंने कहा कि मैं सरकार की नीतियों के खिलाफ लिखता रहता हु, इसलिए केंद्र सरकार मेरी आवाज़ को बंद कराना चाहती है. हालाँकि इससे पहले 17 अप्रैल को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 40 करोड़ रुपए से अधिक जुड़े विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) कानून के उल्लंघन को लेकर कार्ति चिदंबरम और उनसे कथित तौर पर संबंधित कंपनियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया जा चुका था.

अब इस मुद्दे पर कांग्रेस के ही दिग्व‍िजय सिंह इस मुद्दे में कूद पड़े हैं, उन्होंने कहा है कि पी. चिदंबरम ने कुछ भी गलत नहीं किया है. उन्होंने इस छापेमारी की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए इसे बदले की कार्यवाही बता दिया है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments