Home > ख़बरें > मोदी मिले जिनपिंग से, आँखों में आँखें डालकर समझायी मन की बात, हँसते हुए बोले जिनपिंग- ओके !

मोदी मिले जिनपिंग से, आँखों में आँखें डालकर समझायी मन की बात, हँसते हुए बोले जिनपिंग- ओके !

modi-jinping-brics-meeting

श्यामेन : ब्रिक्स सम्मलेन के लिए चीन गए पीएम मोदी वहां से म्यांमार दौरे के लिए निकल गए हैं. जाने से पहले उन्होंने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय वार्ता की. इस वार्ता में पीएम मोदी को लगातार तीसरी बार सफलता मिली है. एक घंटे से ज्यादा देर तक चली इस वार्ता में चीन ने कहा कि वो भारत के साथ मित्रता रखना चाहता है और राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने भारत के साथ पंचशील समझौते पर चलने की बात कही.

डोकलाम पर पीएम मोदी ने की चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग से बात !

हालांकि पहले चीन की ओर से कहा जा रहा था कि डोकलाम को लेकर कोई बात नहीं होगी लेकिन इसके बावजूद पीएम मोदी ने डोकलाम मुद्दे पर जिनपिंग के साथ बात की. दोनों देशों ने तय किया कि आगे से दोनों देशों के बीच डोकलाम जैसे हालात न हो. डोकलाम में लगभग ढ़ाई महीने तक चली तनातनी के बाद हुई इस मुलाक़ात में जिनपिंग ने कहा कि चीन भारत के साथ पंचशील समझौते के तहत अपने तमाम विवादों को दूर करेगा.

उन्होंने कहा कि भारत और चीन दो बड़े पड़ोसी देश हैं, इसके साथ ही हम दोनों दुनिया की सबसे बड़े और उभरते हुए देश भी हैं. जिनपिंग ने पीएम मोदी से वादा किया कि वो भारत के साथ मिलकर पंचशील समझौते के 5 सिद्धांतों पर साथ चलने को तैयार हैं. इस मुलाक़ात के बाद विदेश सचिव एस जयशंकर ने सधे अंदाज में कहा कि मतभदों को कभी विवाद नहीं बनने देंगे.

इसके अलावा पीएम मोदी और जिनपिंग ने ब्रिक्स के मुद्दों पर बातचीत की. दोनों देशों ने द्विपक्षीय बैठक में ‘प्रगतिशील दृष्टिकोण’ अपनाया है. ब्रिक्स को और प्रासंगिक बनाने की बात हुई है. राष्ट्रपति जिनपिंग ने ब्रिक्स के लिए पीएम मोदी के दृष्टिकोण की तारीफ़ की. जिनपिंग ने पीएम मोदी से कहा कि भारत और चीन के बीच स्वस्थ और स्थिर रिश्ते दोनों देशों की जनता के लिए महत्वपूर्ण हैं.

मोदी-जिनपिंग मुलाकात के बाद भारत का बयान…

– दोनों देशों को आपसी भरोसा बढ़ाने की जरुरत.

– बदलते दौर में दोस्ती मजबूत करने की जरुरत.


– ब्रिक्स को और मजबूत बनाने पर बल.

– बॉर्डर पर शांति बनाए रखने की जरुरत.

– शांति के साथ विकास के पथ पर आगे बढ़ना चाहता है भारत.

– मतभेदों को विवाद में नहीं बदलने देंगे.

– दोनों नेताओं में सकारात्मक बातचीत हुई.

– चीन भारत के साथ पंचशील समझौते के 5 सिद्धांतों पर चलने को तैयार.

-पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग के बीच 1 घंटे से ज्यादा देर तक बातचीत हुई.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments