Home > ख़बरें > पीएम मोदी के अपमान पर फट पड़ा नीतीश कुमार का गुस्सा, थर-थर काँपे यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी

पीएम मोदी के अपमान पर फट पड़ा नीतीश कुमार का गुस्सा, थर-थर काँपे यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी

rbi

नई दिल्ली : गुजरात चुनाव से ठीक पहले बीजेपी के कुछ गद्दार नेताओं ने पीएम मोदी पर कीचड उछालना शुरू कर दिया है. पद नहीं मिला तो कुंठित हो चुके बीजेपी के सीनियर नेता यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और शत्रुघ्न सिन्हा जैसे कई नेताओं ने पीएम मोदी के खिलाफ ही मोर्चा खोला हुआ है. मगर इन गद्दारों को अब बिहार के सुशासन बाबू नितीश कुमार ने ऐसा करारा जवाब दिया है, जिससे इनकी अक्ल ठिकाने लग गयी है.


यशवंत के ‘हमले’ पर नीतीश आये मोदी के साथ

दरअसल यशवंत सिन्हा ने हाल ही में मोदी सरकार की आर्थिक नीति पर जमकर हमला बोला था और अरुण शौरी ने तो नोटबंदी को पीएम मोदी द्वारा चलाई गयी मनी लॉन्ड्रिंग योजना तक कह दिया था. इस पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पीएम मोदी का समर्थन करते हुए उनके नोटबंदी और जीएसटी लागू करने के फैसले को सही ठहराया है. बीजेपी के गद्दार नेताओं को लताड़ते हुए कहा कि इससे अर्थव्यवस्था में पारदर्शिता आएगी.

बता दें कि नितीश कुमार ने नोटबंदी के दौरान भी पीएम मोदी का साथ देते हुए इसका समर्थन किया था. वहीँ यशवंत सिन्हा ने मोदी पर कीचड उछालते हुए कहा है कि सरकार नोटबंदी के प्रभाव का अनुमान लगाने में असफल रही, जिसके कारण अर्थव्यवस्था काफी समय से बुरे दौर में है. वहीँ नितीश कुमार ने ऐसे नेताओं को जबरदस्त लताड़ लगाई है.

मोदी के खिलाफ झूठ फैला रहे बीजेपी के लालची नेता

यशवंत सिन्हा ने कहा कि नोटबंदी के फौरन बाद मोदी ने जीएसटी के रूप में एक बड़ा झटका और दे दिया. इन दोनों (नोटबंदी व जीएसटी) ने अर्थव्यवस्था को पीछे धकेलने में बड़ी भूमिका निभाई है. उन्होंने कहा कि सरकार नोटबंदी और जीएसटी के प्रभावों का विस्तृत आंकलन करने में विफल रही है.


सिन्हा ने कहा कि सरकार को नोटबंदी और जीएसटी का पूरे अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभाव का आकलन करना चाहिए था. अर्थव्यवस्था नोटबंदी के दौर से उबरी ही नहीं थी कि उसके बाद जीएसटी के अतिरिक्त बोझ को लाद दिया गया.

आरबीआई और विश्व बैंक ने भी दिया यशवंत को झटका

केवल नितीश कुमार ही नहीं बल्कि आरबीआई की रिपोर्ट ने भी बीजेपी के इन गद्दार नेताओं के गाल पर तमाचा लगाया है. आरबीआई ने हाल ही में रिपोर्ट जारी की है, जिसके मुताबिक़ अगली छमाही में अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 7 फ़ीसदी रहेगी. वहीँ विश्व बैंक की रिपोर्ट में भी जीएसटी और नोटबंदी को क्रांतिकारी कदम बताते हुए पीएम मोदी की तारीफ़ की गयी है.

विश्व बैंक ने अपनी रिपोर्ट में भारत की अर्थव्यवस्था के बारे में बताया है कि इन क्रांतिकारी बदलावों के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ेगी और एशिया में चीन को पछाड़ते हुए पहले नंबर पर आ जायेगी. कुल मिलाकर देखा जाए तो बीजेपी के गद्दारों को ये बड़ा झटका है, साफ़ हो गया है कि पद की लालसा में ये सभी झूठी बातें फैला कर मोदी को कमजोर करने की कोशिशें कर रहे हैं.


यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments