Home > ख़बरें > महारैली से लौटते ही टूट पड़ा लालू पर मुसीबतों का पहाड़, जज की शक्ल में दिखने लगे हैं पीएम मोदी

महारैली से लौटते ही टूट पड़ा लालू पर मुसीबतों का पहाड़, जज की शक्ल में दिखने लगे हैं पीएम मोदी


पटना : आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें दिन पर दिन बढ़ती जा रही हैं. जहाँ एक तरफ चारा घोटाले में उन पर शिकंजा कसता जा रहा है तो वहीँ अभी भाजपा के खिलाफ महारैली करना उनके लिए अब एक और बड़ी मुसीबत लेकर आ गया है. लालू यादव की गृहदिशा इसी से पता लगायी जा सकती है कि अब तो जज के अंदर भी लालू यादव को पीएम नरेंद्र मोदी का चेहरा दिखने लगा है.

चारा घोटाले से बचने के लिए लालू ने खेला नया दांव

अभी-अभी बड़ी खबर आ रही है जिसमें रांची हाइकोर्ट ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को बड़ा झटका दे दिया है. दरअसल लालू यादव चारा घोटले में इतनी बुरी तरह फंस चुके हैं कि वो इससे भागने के लिए हर तरह के हथकंडे और चालाकियां चल रहे हैं. कभी उनकी कोर्ट जाने से पहले तबियत खराब हो जाती है तो कभी चक्कर आने लगते हैं . तो कभी वो जज के आगे गिड़गिड़ाने लगते हैं कि साहब रोज़ रोज़ कोर्ट ना बुलाया जाए. लेकिन इस बार तो कुछ नया ही ड्रामा खड़ा किया है.

जज की शक्ल में नरेंद्र मोदी दिखने लगे हैं!!!

लालू के वकील ने हाइकोर्ट में बड़ी अजीबोगरीब याचिका दाखिल करी थी कि जिसमें कहा था कि उन्हें जज पर भरोसा नहीं है, जज का व्यवहार अच्छा नहीं लग रहा है और जज उन्हें जानबूझकर न्याय नहीं देना चाहते. जज पहले से सजा देने का मन बना चुके हैं.  इसलिए चारा घोटाले के सभी मामले अब दूसरे कोर्ट में ट्रांसफर कर दिए जाएँ. दरअसल ये सब लालू को चारा घोटाले से बचाने के हथकंडे अपनाएं जा रहे हैं. लेकिन हाइकोर्ट के जस्टिस अपरेश कुमार सिंह ने मेरिट के आधार सीधे से इस याचिका को उड़ा दिया और कहा कि चारा घोटाले के मामले को स्थानांतरित करने के लिए दी गयी याचिका बेमतलब है.

कानून के साथ खेल रहे हैं कबड्डी, पहले भी लगा चुके हैं आरोप

तो वहीँ लालू की इस दलील का सीबीआई ने कड़ा विरोध करा है और कहा है कि जो भी आरोप लगाए गए हैं वे बेबुनियाद हैं. लालू की कानून के साथ कबड्डी खेलना बहुत पुरानी आदत है. पिछली बार भी सीबीआई जज पर उन्होंने ऐसा ही आरोप लगाया था, जिसे हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था.


आयकर विभाग ने भेजा लालू को मुसीबत का नया पैगाम

यही नहीं चारा घोटले के साथ साथ अब वे एक और नयी मुसीबत में फंसने वाले हैं. अभी लालू ने ‘भाजपा भगाओ देश बचाओ‘ महारैली पटना के गांधी मैदान में करी थी. जिसपर एक फ़र्ज़ी तस्वीर से नकली भीड़ दिखाने के चक्कर में फंसे लालू यादव का सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर मजे लिए थे. लेकिन अब इस रैली को लेकर आयकर विभाग ने लालू को नोटिस भेजा है और पूछा है कि उनके पास रैली करने के लिए इतने सारे पैसे कहां से आ गए. इनकम टैक्स विभाग ने लालू से रैली को लेकर हुए खर्च का पूरा हिसाब-किताब मांगा है.

आपको बता दें इस महारैली में जेडीयू के बागी नेता शरद यादव, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव, राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव, गुलाम नबी आजाद, सीपीआई नेता डी राजा, कांग्रेस के हनुमंत राव, डीएमके के एलांगोवन, एनसीपी के तारिक अनवर समेत कई बड़े नेताओं ने नीतीश कुमार और बीजेपी पर जमकर हमला बोला था.

रैली में हिस्सा लेने के लिए आरजेडी के जो भी समर्थक पटना पहुंचे थे, उनके रहने और खाने पीने का इंतजाम पार्टी के 80 विधायक, सात पार्षद और तीन सांसदों के जिम्मे था. बड़े-बड़े शामियाने लगाए गए थे, भोजन की पूरी व्यवस्था की गई थी.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments