Home > ख़बरें > आप यूपी की ख़बरों में उलझे रहे, वहां ममता के बंगाल में हो गया बड़ा कांड, देशभर में गुस्से का माहौल !

आप यूपी की ख़बरों में उलझे रहे, वहां ममता के बंगाल में हो गया बड़ा कांड, देशभर में गुस्से का माहौल !

mamta-hanuman-jayanti-lathicharge

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के बीरभूम में हनुमान जयंती के मौके पर बीजेपी ने पशासन से रैली निकालने की इजाजत मांगी थी. इस रैली की अगुवाई बीजेपी के राज्याध्यक्ष दिलीप घोष करने वाले थे, लेकिन बीरभूम पुलिस ने इसकी अनुमति तो दी नहीं, उलटे इलाके में धारा-144 लागू करवा दी.


पुलिस का लाठीचार्ज !

इजाजत ना मिलने के कारण मायूस हुए बीजेपी नेता मंगलवार को रैली में शामिल होने नहीं आये, लेकिन हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ता ममता सरकार पर तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए जुलूस निकालने के लिए अड़ गए. जुलूस ना निकल सके इसके लिए बंगाल पुलिस अपने दल-बल के साथ मौके पर पहुच गयी.

आज सुबह ‘जय श्री राम‘ के नारे लगाते हुए हिंदू जागरण मंच के सैकड़ों कार्यकर्ता जब सड़कों पर जुलूस निकालने के लिए आये तो सूरी के बस स्टैंड के पास पुलिस वालों ने उनका जुलूस रुकवा दिया. जिसके बाद दोनों पक्षों की ओर से बहस होने लगी, जिसने देखते ही देखते हाथापाई का रूप ले लिया.

रेपिड एक्शन फोर्स की तैनाती !

हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने सवाल उठाये कि यदि मुहर्रम का जुलूस निकालने की इजाजत दी जा सकती है तो हनुमान जयंती के मौके पर जुलूस निकालने की इजाजत क्यों नहीं दी जा सकती? पुलिस की और से संतोषजनक जवाब ना मिलने के कारण हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ता गुस्से से भड़क उठे, जिसके बाद पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज कर दिया.


लाठीचार्ज करके भीड़ को तीतर-बितर करके पूरे इलाके में रेपिड एक्शन फोर्स को तैनात कर दिया गया. पुलिस लगभग 10 कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी ले लिया.

ममता पर तुष्टिकरण की राजनीति के आरोप !

वहीँ बीजेपी की और से बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर इस मामले में तानाशाही रवैये के आरोप लगाए गए. बंगाल के दौरे पर आए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने ममता पर आरोप लगाते हुए कहा कि ममता बनर्जी विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधने के लिए सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर रही हैं. हनुमान जयंती के मौके पर रैली निकालने की इजाजत क्यों नहीं दी गयी इस सवाल का जवाब देने की जगह ममता ने बीजेपी और आरएसएस पर राज्य के सांप्रदायिक सौहार्द को खत्म करने की साजिश करने का आरोप लगा दिया.

बच्चों के सरस्वती पूजन से ऐतराज !

गौरतलब है कि काफी वक़्त से बंगाल में ममता पर तुष्टिकरण की राजनीति करने के आरोप लगते रहे हैं. अभी कुछ ही वक़्त पहले हावड़ा जिले में स्थित उलबेड़िया के तेहट्टा हाई स्कूल में स्कूली बच्चों को सरस्वती पूजा तक नहीं करने दी गयी थी. जब बच्चों ने शांतिपूर्ण तरीके से पूजा करने देने की मांग की थी तो ममता की पुलिस ने मासूम बच्चों को बर्बरता से पीटा, उन पर लाठी चार्ज कर दिया था जिसके कारण दर्जनों मासूम बच्चे बुरी तरह घायल हो गए थे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments