Home > ख़बरें > बांग्लादेश से आयी बेहद खौफनाक खबर से भारतीय मुस्लिमों के उड़े होश, ओवैसी, आजम तक हैरान !

बांग्लादेश से आयी बेहद खौफनाक खबर से भारतीय मुस्लिमों के उड़े होश, ओवैसी, आजम तक हैरान !

modi-owaisi-rohingya

ढाका : रोहिंग्या मुस्लिमों को लेकर भारत में समर्थक काफी उग्र हो रहे हैं. कुछ तो जंतर-मंतर पर विरोध कर रहे हैं और कुछ ने तो देश में कत्लेआम मचाने की धमकी तक दे डाली है. मगर बांग्लादेश से एक ऐसी हैरतअंगेज खबर आ रही है, जिसने ओवैसी जैसों की दुनिया हिला दी है. रोहिंग्या समर्थक हैरान है लेकिन अब समझ नहीं पा रहे हैं कि भारत का विरोध तो कर लिया लेकिन अब बांग्लादेश का विरोध कैसे करें, वहां तो अपने ही लोग रहते हैं. (सबूत पोस्ट के अंत में देख सकते हैं.)


हजारों रोहिंग्या मुस्लिम गर्भवती महिलाओं को देख बांग्लादेश सन्न !

दरअसल बांग्लादेश ने लगभग 3 लाख से अधिक रोहिंग्या मुसलमानों को मानवता के आधार पर शरण दी है. मगर बांग्लादेश की खुफिया एजेंसियों को एक ऐसी चौंकाने वाली रिपोर्ट दी है, जिसे देख बांग्लादेश सरकार तक दहशत में आ गयी है. बांग्लादेश को अब समझ नहीं आ रहा है कि गले पड़ी समस्या से निपटा कैसे जाए, लिहाजा कुछ सख्त कदम उठाये जा रहे हैं.

दरअसल रोहिंग्या मुसलमानों के शिविर से एक चौंकाने वाला सच सामने आया है. बांग्लादेश में शरणार्थी बनी हजारों रोहिंग्या मुसलमान महिलाएं गर्भवती हो गयी हैं. जनसंख्या जेहाद का ऐसा खौफनाक सच अब बांग्लादेश को समझ आया है. करीब 16 हजार से अधिक रोहिंग्या महिलाएं गर्भवती हैं और एक-एक महिला के पहले से करीब 7 से 10 बच्चे हैं.

म्यांमार को सीख देने वाले अब परेशान !

यही बात म्यांमार सरकार व् सेना चीख-चीख कर कह रही थी कि जनसंख्या जेहाद फैला कर व् आतंकवाद फैला कर रखाइन को इस्लामिक स्टेट बनाने की साजिश की जा रही थी, बौद्धों को मारा जा रहा था, इसीलिए उन्हें रोहिंग्याओं के खिलाफ सख्ती करनी पड़ी. उस वक़्त म्यांमार की बात किसी को समझ नहीं आ रही थी, सब मानवता की दुहाई दे रहे थे.

अब बांग्लादेश की हालत खराब है, इतने सारे भूखे बच्चे और हजारों अन्य पैदा होने को हैं. सबका भार बांग्लादेश सरकार के सर पर आ पड़ा है. ऐसे में बांग्लादेश अब म्यांमार के पैरों पर गिर पड़ा है और रोहिंग्याओं को वापस लेने के लिए मिन्नतें कर रहा है.

परिवार नियोजन किट बांट रहा है बांग्लादेश !

रोहिंग्या इतनी जल्दी तो वापस जाने से रहे, इसलिए बेहद परेशान बांग्लादेश सरकार ने रोहिंग्या मुसलमानों की बढ़ती आबादी देखकर इनके बीच परिवार नियोजन अभियान चलाने का फैसला किया है. रोहिंग्या समुदाय को अपने परिवार का आकार छोटा रखने के लिए प्रेरित करने की योजना तैयार की जा रही है. उन्हें जन्म नियंत्रण गोलियां और अन्य गर्भ निरोधक दिए जा रहे हैं. मगर रोहिंग्याओं द्वारा इस योजना को ये कहकर नकारा जा रहा है कि इस्लाम में परिवार नियोजन हराम है और बच्चे तो अल्लाह की देन होते हैं.


बांग्लादेश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मोहम्मद नसीम ने बताया कि, “रोहिंग्या समुदाय में प्रजनन दर बहुत अधिक है, जबकि जन्म नियंत्रण उपायों के बारे में उन्हें कुछ खास पता नहीं है. यही वजह है कि इनमें जन्म नियंत्रण के तौर-तरीकों के बारे में जानकारी देने के लिए अब तक छह मेडिकल टीम्स बनाई गई हैं.”

बताया गया है कि पिछले 25 अगस्त को बांग्लादेश में रोहिंग्या शरणार्थियों के आने का सिलसिला शुरू होने के बाद दक्षिण-पश्चिमी बांग्लादेश के कॉक्स बाजार में अस्थायी रोहिंग्या शिविरों में कम से कम 200 बच्चे पैदा हो चुके हैं. बांग्लादेश की साँसे तेज हो गयी हैं और उसे समझ ही नहीं आ रहा कि अब इस समस्या से आखिर निपटा कैसे जाए.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments