Home > ख़बरें > पीएम नरेंद्र मोदी से भिड़ गए ओवैसी, कश्मीर को लेकर खुलेआम भारतीय सेना को ही दे डाली धमकी !

पीएम नरेंद्र मोदी से भिड़ गए ओवैसी, कश्मीर को लेकर खुलेआम भारतीय सेना को ही दे डाली धमकी !

owaisi-against-army

नई दिल्ली : कश्मीर का मुद्दा ठंडा ही नहीं पड़ रहा है, पहले अरुंधति रॉय को लेकर बीजेपी नेता परेश रावल के ट्वीट के बाद सोशल मीडिया में घमासान शुरू हुआ, अभी ये मुद्दा शांत हुआ भी नहीं था कि इस बार ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भी इस मामले में कूद पड़े हैं और बयानों की झड़ी लगा दी है. ओवैसी ने एक बार फिर भारत माता के खिलाफ जहर उगला है, जिसे के बाद सियासी गलियारों में बयानबाजी का एक और सिलसिला शुरू हो गया है.


सेना को चैलेंज

इस बार ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ भारतीय सेना को भी ललकारा है. मेजर गगोई द्वारा पत्थरबाज को जीप में बांधे जाने और बाद में उनके इस फैसले को सूझ-बूझ से भरा फैसला बताते हुए सेना व् सरकार द्वारा उन्हें सम्मानित किये जाने की बात ओवैसी से हजम नहीं हो रही.

ओवैसी ने कश्मीर मुद्दे पर पीएम मोदी के खिलाफ हमला बोलते हुए कहा कि यदि मोदी कश्मीर की हिंसा शांत करने के लिए बड़ा कदम नहीं उठा सकते हैं तो अपने पद से इस्तीफा दें दे. बता दें कि ये ओवैसी की दोगलापंथी सबसे बड़ा नमूना है क्योंकि पीएम मोदी ने कश्मीर में जारी हिंसा को रोकने के लिए ही सेना को खुली छूट दी है, जिसके तहत सेना अपने मुताबिक़ कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है. इस के बाद ही मेजर गगोई ने पत्थरबाज को जीप से बांधा था.

साथ ही पीएम मोदी ने कश्मीरी अलगाववादियों व् पत्थरबाजों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश भी दे दिए हैं लेकिन ओवैसी ने मेजर गगोई को सम्मानित किये जाने पर भारतीय सेना के खिलाफ ही कठोर टिप्पणियां कसी हैं. मेजर गगोई को सेना द्वारा सम्मानित किये जाने और सरकार द्वारा सेना का समर्थन किये जाने पर संज्ञान लेते हुए ओवैसी ने कहा कि कश्मीरियों के साथ नाइंसाफी हो रही है. यदि सेना में इतना ही दम है तो मुझे जीप के आगे बांध कर दिखाए, देश तबाह हो जाएगा.

राजनीति के आगे अंधे हो चुके हैं नेता !

ओवैसी ने जहर उगलते हुए आगे कहा कि भारतीय सेना के इस प्रकार के बर्ताव से कश्मीर के मुस्लिम वर्ग के लोग डर के साथ जीवन जीने को मजबूर हो रहे है. पीएम मोदी इस सन्दर्भ में कोई संज्ञान नहीं ले रहे है और सेना को सम्मानित करने में लगे हुए हैं. बता दें कि जिन कश्मीरियों को द्वारा हुआ बता कर ओवैसी सुहाभूति बटोरकर अपनी राजनीति चमकाना चाहता है, वही पत्थरबाजों ने एक बार फिर सेना की कार्रवाई में बाधा डालते हुए पत्थरबाजी की जिसके कारण लश्कर का खौफनाक आतंकी भाग निकला.


साउथ कश्मीर के पुलवामा जिले के हकरिपोरा गांव को सुरक्षाबलों ने घेर लिया था, घेरे गए इलाके कश्मीर में लश्कर का चीफ अबू दुजाना फंस गया था और सेना उसे धर-दबोचने वाली थी कि तभी पत्थरबाज उसकी मदद के लिए वहां पहुंच गए और उसे भगा दिया.

ओवैसी इतने पर ही नहीं रुका और उसने कहा कि पीएम मोदी कश्मीर मुद्दे पर अपनी पालिसी और योजना को सार्वजानिक करें. ओवैसी ने सेना के मरते हुए जवानों को दरकिनार करते हुए कहा कि कश्मीर में मेरे भाई-बहन मर रहे है उनके जान माल के जिम्मेवार सिर्फ और सिर्फ मोदी हैं. लोकतंत्र में सबको बोलने का अधिकार है लेकिन सेना कश्मीरियों की आवाज को दबाना चाहती है, जिसे मैं होने नहीं दूंगा.

ओवैसी के इस बयान के बाद नेताओं की इसपर प्रतिक्रया आणि शुरू हो गयी. सोशल मीडिया पर भी ढेरों बड़ी हस्तियों के साथ-साथ आम लोगों ने भी ओवैसी की जबरदस्त फजीहत की है. लोगों ने ट्वीट करके कहा कि सेना को अब ओवैसी को ही जीप के आगे बाँधना चाहिए तभी ये पत्थरबाज सुधरेंगे. जो भी पत्थरबाजों का समर्थन करता है, उन सभी को एक-एक करके जीप के आगे बांध देना चाहिए.

बता दें कि दुनिया के सभी देशों में यदि देश की एकता, अखंडता व् सम्प्रभुता पर कोई ख़तरा मंडराता है तो पक्ष-विपक्ष सब एक होकर देशहित में फैसले लेते हैं, केवल भारत एक मात्र ऐसा देश है जहा के नेता इतने नीच हो चुके हैं कि चाहे देश हजारों टुकड़ों में खंड-खंड हो जाए लेकिन इन्हे तो केवल अपनी राजनीति दिखाई देती है. ये बात खुल चुकी है कि कश्मीर में अलगाववाद बनावटी है पूरी तरफ से पाक प्रायोजित है लेकिन फिर भी अपनी राजनीतिक रोटियां सेकने में मस्त नेताओं को इससे कोई सरोकार ही नहीं. ऐसे लोग खुलकर पाकिस्तान का समर्थन करने तक से नहीं कतराते हैं. अब समय आ चुका है जब वोट देने वाली जनता ऐसे दोगले नेताओं की पहचान करे और उन्हें राजनीति से बाहर करे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments