Home > ख़बरें > म्यांमार में जारी हिंसा पर ओवैसी ने किया कुछ ऐसा, हिन्दू संगठनों समेत पीएम मोदी के भी उड़े होश !

म्यांमार में जारी हिंसा पर ओवैसी ने किया कुछ ऐसा, हिन्दू संगठनों समेत पीएम मोदी के भी उड़े होश !

owaisi-modi-myanmar-hindu

नई दिल्ली : म्यांमार में रोहिंग्या कट्टरपंथियों द्वारा मचाये गए आतंक का शिकार वहां रहने वाले हिन्दू भी बन रहे हैं. बताया जा रहा है कि आतंकियों ने म्यांमार में रहने वाले कम से कम 86 हिंदुओं की ह्त्या कर दी है और इनके घरों को आग के हवाले कर दिया है, जबकि 200 हिंदू परिवारों को रोहिंग्या आतंकियों के हमलों से जान बचाने के लिए जंगलों में भागना पड़ा है.


ओवैसी बोले म्यांमार हिन्दुओं के पक्ष में !

रोहिंग्याओं के पक्ष में तो दुनियाभर में कई आवाजें उठ रही हैं, लेकिन अब तक उन हिन्दुओं के बारे में किसी ने कुछ नहीं सोचा. मगर अब हिंदुओं पर होने वाले इस अत्याचार को लेकर ऑल इंडिया मसलिस ए मुस्लमीन यानी एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने अपनी चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने इस मामले पर जो कहा है, वो कईयों के लिए वाकई में हैरान करने वाला है.

ओवैसी ने म्यांमार में हिन्दुओं के मारे जाने की खबर का लिंक शेयर करते हुए ट्वीट किया है और गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू को टैग करते हुए लिखा है कि कृपया कम से कम इन 200 परिवारों को तो भारत ले आएं. इसके बाद ओवैसी ने सवालिया निशान लगाते हुए लिखा है- दया.

म्यांमार में मारे जा रहे हैं हिन्दू !

ओवैसी के इस ट्वीट से सभी हैरान हैं, क्योंकि उनसे इसकी किसी ने उम्मीद ही नहीं की थी. उनका छोटा भाई तो आये-दिन हिन्दुओं के खिलाफ जहर उगलता रहता है. क्या ओवैसी ने हिन्दुओं के पक्ष में ये बात सही नीयत से कही है या इसके पीछे भी उनका कोई निजी स्वार्थ है, ये बात तो हम नहीं कह सकते. देखना ये है कि क्या मोदी सरकार उनकी बात पर गौर करते हुए म्यांमार में फंसे हिन्दुओं को भारत लाएगी?

गौरतलब है कि म्यांमार में हिंदुओं के मारे जाने की खबर अंग्रेजी अखबार टेलीग्राफ ने सबसे पहले छापी थी. खबर के अनुसार म्यांमार से बांग्लादेश आते हुए भी कई लोग हिंसा का शिकार हुए थे. वहीं कहा जा रहा है कि पिछले दो हफ्तों में करीब 3 लाख रोहिंग्या मुस्लिम अवैध रूप से बांग्लादेश में घुस चुके हैं.

बता दें कि गृह मंत्रालय के मुताबिक करीब 40 हजार से ज्यादा रोहिंग्या मुस्लिम अवैध रूप से भारत में घुसे हुए हैं. ये भी बता दें कि भारत सरकार ने अवैध रूप से रह रहे रोहिंग्या मुसलमानों को म्यांमार वापस भेजने का फैसला किया है.उन्हें वापस भेजना इसलिए भी जरूरी हो चुका है क्योंकि खुफिया एजेंसियों के मुताबिक़ रोहिंग्या देश की सुरक्षा के लिए ख़तरा हैं और इन्हे यदि नहीं निकाला गया तो देश में आतंकी हमले होने का ख़तरा है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments