Home > ख़बरें > मोदी ने लिया बेहद ऐतिहासिक फैसला, कांग्रेस के लगाए सबसे बड़े कलंक को धोकर बदली देश की किस्मत

मोदी ने लिया बेहद ऐतिहासिक फैसला, कांग्रेस के लगाए सबसे बड़े कलंक को धोकर बदली देश की किस्मत

नई दिल्ली : 1962 में चीन के साथ हुए युद्ध में तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की असफल नीतियों व् अदूरदर्शिता के चलते भारत को हार का सामना करना पड़ा था. युद्ध के दौरान भारतीय सेना को अरुणाचल प्रदेश की काफी ज़मीन को अधिग्रहित करना पड़ा था. उस वक़्त आपातकाल में देशभक्त किसानो ने भी आगे बढ़कर अपनी जमीनें दी भी थी. लेकिन कांग्रेस सरकारों की मक्कारी देखिये कि बेचारे किसान अपनी जमीनों के मुआवजे का इन्तजार करते-करते मर गए लेकिन कांग्रेस ने उनके साथ विश्वासघात करते हुए उन्हें मुवाअजा तक नहीं दिया.


उसके बाद से लगातार कई बार कांग्रेस सरकारें बनती रहीं लेकिन कांग्रेस का ध्यान इन गरीब किसानों की ओर नहीं गया. उन्हें ज़मीन का मुआवज़ा आज भी 55 साल के बाद भी नहीं मिला. जिससे उनमें असंतोष पैदा होने लगा था. लेकिन अब उन हज़ारों किसानो के लिए ख़ुशी का मौका आ गया है. मोदी सरकार ने अब उनके लिए शानदार फैसला लिया है जिससे देश भर में और सोशल मीडिया पर जमकर मोदी सरकार की तारीफ हो रही है.

55 साल से नहीं दिया गया था मुआवज़ा, मोदी सरकार ने लिया फैसला

ताज़ा खबरों के मुताबिक 55 साल बाद अब उन हज़ारो किसानो एवम स्थानीय निवासियों को उनकी ज़मीन का मुआवज़ा मिलेगा, जिन्होंने देशभक्ति का प्रमाण देकर आगे से अपनी ज़मीन भारतीय सेना को युद्ध के लिए दी थी. पिछली सभी सरकारें इस मामले को अनदेखा करती रही हैं. मंगलवार को इसी मसले पर केंद्रीय रक्षा राज्यमंत्री सुभाष भामरे, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू और मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कई घंटों तक मीटिंग करी.


3000 करोड़ मुआवज़ा राशि तय की गयी है

केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि अब केंद्र सरकार और राज्य सरकार मिलकर लोगों के भले के लिए काम कर रही हैं. जो 55 सालों में नहीं हुआ वो अब मोदी सरकार में होगा. निवासियों को मुआवज़ा मिलेगा तो यह वहां के लोगों के लिए काफी आश्चर्यजनक और बेहद ख़ुशी कि बात होगी. मुआवज़े की राशि 3000 करोड़ तक रहेगी.

किरेन रिजिजू ने आगे कहा कि उन्होंने रक्षा राज्य मंत्री भामरे और सेना के अधिकारियों से बात की. जिससे एक दूसरे के साथ अच्छे से तालमेल बना कर पिछले सभी वर्षों से अटके पुराने मुद्दों को अतिशीग्रह हल किया जा सके. रिजिजू ने तय समय सीमा के जल्द से जल्द पुराने सभी मसलो को हल करने की बात कही. रिजिजू ने सभी अधिकारियों से सवाल किया कि मुआवज़े की राशि को सुनियोजित तरीके से निवासियों में बाटें और पुराने सभी मुद्दों को हल करने में कितना समय लेंगे यह भी बताएं.

मीटिंग में अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री खांडू ने कहा कि लीज दर, स्वामित्व अधिकारों का अनुदान, दोहरे मुआवजे का भुगतान और जमीन की दरों का निर्धारण सभी समस्याओं का हल जल्द से जल्द निकाल लिया जायेगा, ऐसा उन्होंने आश्वासन दिया. सीएम खांडू ने कहा कि कैबिनेट ने राज्य भूमि प्रबंधन मंत्री की अध्यक्षता में हाई लेवल कमेटी का गठन कर दिया है, ये कमेटी सभी वर्षों से अटके मुद्दों की जांच करेगी.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments