Home > ख़बरें > ब्रेकिंग -सस्ती पब्लिसिटी पाने के लिए अन्ना हज़ारे ने पार करी सारी हदें, दुनिया भर के लोग हुए हैरान

ब्रेकिंग -सस्ती पब्लिसिटी पाने के लिए अन्ना हज़ारे ने पार करी सारी हदें, दुनिया भर के लोग हुए हैरान

नई दिल्ली : सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे आये दिन अपने अगले आंदोलन को लेकर बातें करते रहते हैं. अन्ना हज़ारे ने पीएम मोदी पर आरोप लगाए कि उन्होंने जनलोकपाल को कमज़ोर कर दिया है, इसके लिए उनका आंदोलन पहले दिसंबर में होने वाला था फिर जनवरी में. लेकिन रविवार को प्रसिद्ध समाजसेवी अन्ना हजारे ने मध्यप्रदेश के खजुराहो मंदिर पर्यटन स्थल पर कुछ ऐसा कर दिया कि इसकी चर्चा दिल्ली तक में है.


खजुराहो के मंदिर की दीवार पर अन्ना हजारे ने लिखा

अभी मिल रही NDTV की खबर अनुसार अन्ना ने रविवार को अपने हाथों से अपने दिल्ली आंदोलन की तारीख यहां की एक दीवार पर लिख दी. यह दीवार खजुराहो के मंदिर की ऐतिहासिक दीवार थी. अन्ना मजबूत लोकपाल विधेयक और किसानों की कर्ज माफी के लिए 23 मार्च से दिल्ली में आंदोलन शुरू करने जा रहे हैं.दीवार पर अन्ना हजारे ने 23 मार्च 2018 की तारीख दर्ज की साथ ही एक नारा भी लिखा जिसमें उन्होने लिखा ’23 मार्च को दिल्ली चलो’. आंदोलन तक बात ठीक है. लेकिन लोगों का गुस्सा अन्ना हज़ारे पर तब फूटा जब उन्होंने ऐतिहासिक धरोहर पर लिखा. ये गैरकानूनी है.

एक व्यक्ति ने इस पर अपना गुस्सा ज़ाहिर करते हुए लिखा “अन्ना को तो ऐतिहासिक धरोहर को लिख कर के विकृत करने के जुर्म में जेल में डाल देना चाहिये, क्योंकि अगर बड़े लोग ही ऐतिहासिक धरोहर को विकृत करेंगे तो आम नागरिक भी खराब करेंगे. सरकार क्या उन्हे भी छोड़ देगी या उन को दंड देगी”.


अन्ना हज़ारे मौजूदा सरकार से खुश नहीं हैं क्योंकि उनके अनुसार यह सरकार उद्योगपतियों का तो ख्याल रख रही है, मगर किसान उसकी नजर में नहीं हैं. लेकिन अन्ना हजारे द्वारा रविवार को खजुराहो के मंदिर की दीवार पर अपने लोकपाल आंदोलन की तारीख तक लिख देना. ये कहाँ तक सही है. अगर बड़े लोग जिनके पीछे भीड़ चलती है वही लोग ऐसा काम करेंगे तो, बाकी लोग भी दीवारों पर लिखा करेंगे.

अन्ना ने कहा कि मनमोहन सिंह बोलते नहीं थे और उन्होंने लोकपाल-लोकायुक्त कानून को कमजोर किया और अब वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लोकपाल को कमजोर करने का काम किया है. अन्ना ने कहा,’निर्धारित कानून के खिलाफ किसानों से कर्ज पर चक्रवृद्धि ब्याज वसूला जाता है। सरकार यह जानती है, फिर भी इस पर ध्यान नहीं दे रही है। लिहाजा आंदोलन का सहारा लेना पड़ रहा है।’

अन्ना ने 23 मार्च से शुरू होने वाले आंदोलन के बारे दीवार पर लिखा, ’23 मार्च को चलो दिल्ली।’ अन्ना ने दीवार पर नारा लिखने के बाद कहा, ‘यह आंदोलन किसी दल के खिलाफ और किसी के समर्थन में नहीं है, यह जनता के हित में किया जा रहा है।’


पीएम नरेंद्र मोदी से जुडी सभी खबरें व्हाट्सएप पर पाने के लिए 783 818 6121 पर Start लिख कर भेजें.

यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.


सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments