Home > ख़बरें > यूपी चुनाव नतीजों के बाद आयी अब तक की सबसे हैरतअंगेज खबर, बेचैन हुए टीपू, बेहाल हुए पप्पू

यूपी चुनाव नतीजों के बाद आयी अब तक की सबसे हैरतअंगेज खबर, बेचैन हुए टीपू, बेहाल हुए पप्पू

rahul-akhilesh-yadav

नई दिल्ली : यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी की बम्पर जीत और सपा की करारी हार के बाद अब सपा में एक बार फिर से पारिवारिक खींचातानी शुरू हो गयी है. चुनाव में करारी हार के कारण अखिलेश यादव भी बैकफुट पर आ गए हैं. वहीँ उनके चाचा शिवपाल यादव के सुर तेज होते दिख रहे हैं.

टीपू पर टूटा समाजवादी कहर !

शिवपाल यादव ने कल अमिताभ बच्चन की आवाज वाला एक विडियो पेश किया जिसमे वो मुख्य भूमिका में नज़र आ रहे हैं. इस विडियो में वो सपा की पुरानी शान को दोबारा हासिल करके सत्ता में वापसी का संकल्प जताते नज़र आ रहे हैं. इस विडियो में शिवपाल ने कहा है, ‘हम जीतकर हारे हैं, हम फिर लड़कर जीतेंगे’. इस विडियो में मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव मुख्य भूमिका में नज़र आ रहे हैं जबकि अखिलेश की केवल एक छोटी सी भूमिका है.

सपा के सूत्रों के मुताबिक़ अखिलेश यादव का समाजवादी पार्टी से पत्ता अब कटने वाला है. शिवपाल समर्थक मांग उठाने लगे हैं कि समाजवादी पार्टी की कमान वापस शिवपाल और मुलायम सिंह यादव के हाथों में दे दी जाए. अखिलेश यादव पर आरोप लगाए जाने शुरू हो गए हैं कि उन्हने जो दावे किये थे, उन्हें वो पूरा करने में बुरी तरफ से विफल हो गए हैं लिहाजा उन्हें पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

सपा के सूत्रों के मुताबिक़ मंगलवार को शिवपाल और मुलायम लखनऊ वापस आएंगे और उसके बाद पार्टी की बुरी तरह से हुई शिकस्त के कारणों का जायजा लिया जाएगा. वहीँ अंदरूनी सूत्रों का कहना ये भी है कि शिवपाल समर्थक चाहते है कि, अखिलेश ने खुद चुनाव में हार के बाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ने की बात कही थी इसलिए उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए और शिवपाल यादव को दोबारा प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए.

राहुल को बताया पनौती !

वहीँ कुछ ऐसा ही हाल राहुल गांधी का भी है. राहुल गांधी को तो सपा कार्यकर्ताओं के साथ-साथ खुद अपनी पार्टी में भी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. सपा कार्यकर्ता कह रहे हैं कि राहुल गांधी जिसका भी हाथ थामते हैं, उसी को ले डूबते हैं और सपा की हार के जिम्मेदार वो ही हैं. वहीँ यूपी कांग्रेस महासचिव उमेश पंडित ने भी राहुल गांधी पर बड़ा हमला बोल दिया है. उन्होंने यूपी चुनाव में कांग्रेस की हार के लिए राहुल गाँधी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि राहुल कांग्रेस जनों के लिए और प्रियंका गांधी के लिए रास्ता खाली कर दे.

कुल मिलाकर देखा जाए तो स्थितियां दोनों ही लड़कों के लिए अनुकूल नहीं दिख रही हैं. अखिलेश और राहुल दोनों को अपनी-अपनी पार्टी में लताड़ा जा रहा है. इस बात के भी कयास लगाए जाने लगे हैं कि शायद 2019 लोकसभा चुनाव तक दोनों को उनकी पार्टी में किनारे लगा दिया जाएगा.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments