Home > ख़बरें > कश्मीर में आतंकियों को सबक सिखाने के लिए डोभाल संभालेंगे घाटी की जिम्मेदारी

कश्मीर में आतंकियों को सबक सिखाने के लिए डोभाल संभालेंगे घाटी की जिम्मेदारी

Ajit Doval

घाटी की स्थिति दिनों दिन बद से बदतर होती जा रही है जिस पर काबू पाने के लिए कुछ दिनों पहले ही कश्मीर की जिम्मेदारी अब भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को सोंपी दी गयी है। घाटी में लोगो को भड्का कर हिंसा फैलाने में पाकिस्तान की घिनौनी करतूतों पर अंकुश लगाने के लिये प्रधानमंत्री स्तर पर दो सूत्रीय रणनीति को हरी झंडी मिल चुकी है। गौरतलब है कि आतंकी बुरहान वानी के मौत के बाद से घाटी में झड़प जारी है।

अजीत डोभाल के नेतृत्व में एक तरफ जम्मू-कश्मीर में सीमा सुरक्षा बल की कई जगह तैनाती कर उप्रवियों पर कडी नज़र रखी जा रही है और भारत विरोधी किसी भी गतिविधि पर नो टॉलरेंस की पॉलिसी अपनाई जा रही है तो वहीं दूसरी तरफ, पाकिस्तान को दुनिया के सामने बेनकाब करने के लिए पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) और बलूचिस्तान के विदेश में रह रहे नागरिकों से संपर्क करा जा रहा है। इस के साथ हीं कश्मीर के राजनीतिक समाधान के लिए आम लोगों तक सच्चाई पहुचाने के लिए व्यापक स्तर पर योजना बनाई जा रही है।

इस दिशा में अब डोभाल एक और महत्वपुर्ण कदम उठा रहे हैं, डोभाल के निर्देश पर ४०० ऐसे अलगाववादी नेताओं की सूची बनायी गयी है जो कश्मीरी लोगो को भड्का कर हिंसा तथा अशांति फैलाने की कोशिश करते हैं। सरकार ने उन सभी अलगाववादी नेताओं को हिरासत में लेने का आदेश ज़ारी कर दिया है और अब सभी नेताओं पर कार्यवाही होना सुनिश्चित माना जा रहा है।


कौन कौन है अलगाववादी नेताओं की सूची में शामिल?

सुरक्षा एजेन्सियों के मुताबिक इस सूची में आतंकवादी संगठनो के लिये काम करने वाले लोग और हिजबुल मुजाहिदीन के अंडरग्राउंड कमांडर शामिल हैं। अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के संगठन और जमात ए इस्लामी संगठन के सदस्यों पर भी सुरक्षा एजेन्सियों की नज़र है।

पेलेट गन पर विवाद बढने के बाद अब सरकार ने कश्मीर में पेलेट गन के इस्तेमाल को कम करने के निर्देश दिए हैं। सुरक्षा एजेन्सियों को PAVA शेल गन्स का इस्तेमाल करने के निर्देश दिए गए हैं जिन्हें मिर्ची गन के नाम से भी जाना जाता है।


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments