Home > ख़बरें > बेटे के बाद अब बाप का लगा नंबर,जब्त ख़ुफ़िया फाइल्स से खुले गड़े हुए राज़, अब नहीं बचा सकता कोई

बेटे के बाद अब बाप का लगा नंबर,जब्त ख़ुफ़िया फाइल्स से खुले गड़े हुए राज़, अब नहीं बचा सकता कोई

नई दिल्ली : अब चिदम्ब्रम परिवार को जेल जाने से कोई नहीं बचा सकता. कांग्रेस सरकार में रहे वित्तमंत्री पी. चिदम्बरम के बेटे कार्ति चिदम्बरम पर सीबीआई और ईडी मिलकर कार्यवाही कर रहे है. करीब 1 करोड़ से ज़्यादा की संपत्ति और 90 लाख की FD जब्त कर ली गयी है. साथ ही कई बैंक कहते भी कुर्क कर दिए हैं. तो वहीँ अब बेटे के बाद बाप को ज़ोरदार का झटका लगा है.


बेटे के बाद अब पी.चिदंबरम का लगा नंबर

अभी कार्ति चिदम्बरम पर ज़ोरदार कार्यवाही से पी. चिदम्बरम बुरी तरह तिलमिला गए थे और कहा था कि मेरे बेटे को छोड़ दो जो करना है मेरे साथ करो. जिसके बाद अब बहुत बड़ी खबर आ रही है कि एयरसेल-मैक्सिस डील में गलत तरीके से’ अनुमति देने के लिए पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम पर भी अब ईडी ने सबूत जुटा लिए हैं.

ईडी ने आरोप लगाया है कि तत्कालीन वित्त मंत्री को 600 करोड़ रुपये तक के ही प्रॉजेक्ट को अनुमति देने की क्षमता थी तो पी. चिदम्बरम ने कैसे और किसके कहने पर 3,500 करोड़ रुपये के लिए फॉरेन इनवेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (FIPB) के प्रपोजल को अनुमति दे दी. इसके बाद ईडी ने पी. चिदम्बरम के कच्चे चिट्ठे की एक -एक परत खोल के रख दी.


ईडी के हाथ  लगी ख़ुफ़िया फाइल्स

ईडी का कहना है कि यह प्रपोजल को ‘गलत तरीके से’ 180 करोड़ रुपये का निवेश दिखाकर मंजूर किया गया, और कैबिनेट कमेटी ऑन इकनॉमिक अफेयर्स (CCEA) से चोरी छुपे किया गया ताकि कुछ जरूरी तथ्यों को छुपाया जा सके. पी. चिदम्बरम के भतीजे द्वारा चलाई जा रही कंपनी ने ने मैक्सिस ग्रुप से सॉफ्टवेयर कंसल्टेंसी के रूप में 2 लाख डॉलर (1.30 करीब रुपए) लिए थे. ईडी का आरोप है कि आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी में विदेशी निवेश की पूरी पड़ताल की जाती. इससे बचने के लिए इसे कम रकम का दिखाया गया.

कांग्रेस के शासन के दौरान पी चिदंबरम वित्त मंत्री रहते हुए फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (एफआईपीबी) ने आईएनएक्स मीडिया के फंड को मंजूरी दी थी. इसमें कार्ती के साथ इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी का नाम भी शामिल था.

पी. चिदम्बरम बुरी तरह तिलमिलाए

ईडी के हाथ अब पुख्ता सबूत लग चुके हैं इसका मतलब अब बेटे के साथ बाप का भी समय बहुत खराब आने वाला है. इसके बाद चिदंबरम ने कहा मैं डरने वाला नहीं हूं. ईडी का प्रेस नोट मुझे धमकाने और मेरी आवाज को दबाने के इरादे से जारी किया गया है. प्रेस नोट में आरोप झूठे हैं. वह अटकलों का पुलिंदा है.

तो वहीँ अभी खबर आयी थी कि जिसमें उन्होंने एक पत्र लिखा है कि यदि उनका बेटा जेल चला गया तो ये किसी के लिए ठीक नहीं होगा, न उनके लिए, न पार्टी के लिए और न गांधी परिवार के लिए. मतलब साफ़ है अब कांग्रेस का सरेआम भांडा फूटेगा. चिदंबरम ने विद्रोह के संकेत से अब कांग्रेस में दो फाड़ होने वाली है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments