Home > ख़बरें > एक साथ 82 नेताओं के इस्तीफे देने से बिहार की राजनीति में आया बवंडर, देखकर हैरान रह जाएंगे…

एक साथ 82 नेताओं के इस्तीफे देने से बिहार की राजनीति में आया बवंडर, देखकर हैरान रह जाएंगे…

narendra-modi-nitish-lalu

पटना : पिछले काफी दिनों से बिहार की राजनीति में हलचल मची हुई है. अभी कुछ ही दिन पहले खबर आयी थी कि नितीश और लालू के महागठंबधन में दरार आ चुकी है और जल्द ही ये गठबंधन टूटने वाला है. अब इसी सिलसिले में एक बड़ी खबर सामने आयी है जिससे राजनीतिक पार्टियों में हड़कंप मच गया है.


नितीश के खिलाफ राजनीतिक साजिश

सूत्रों के मुताबिक़ बिहार में नितीश कुमार के खिलाफ साजिशों का दौर चल रहा है. उन्हें बिहार के मुख्यमंत्री पद से हटाने की साजिश की जा रही है. हाल ही में आरजेडी कार्यकर्ताओं ने मांग की थी कि नितीश कुमार को मुख्यमंत्री पद से हटा कर लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाया जाए. इसके बाद बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी अपने कार्यकर्ताओं की मांग का समर्थन किया था.

जेडीयू के 82 लोगों ने दिए इस्तीफे

वहीँ उत्तर प्रदेश में भी बवाल खड़ा हो गया है, उत्तर प्रदेश में जेडीयू के 82 लोगों ने एक साथ इस्तीफा दे दिया है. उत्तर प्रदेश जेडीयू महासचिव सुभाष पाठक के मुताबिक़ यूपी में जेडीयू के कार्यकर्ता पार्टी से खुश नहीं हैं इसलिए 82 लोगों ने इस्तीफे दे दिए हैं. दरअसल इन लोगों का कहना है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा से पहले ये तय हुआ था कि जेडीयू यूपी की सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेगी, लेकिन फिर बीच में ही चुनाव ना लड़ने का फैसला ले लिया गया. जेडीयू के इस फैसले से कार्यकर्ताओं खुश नहीं थे.


मोदी के समर्थन से नाखुश कुछ कार्यकर्ता

खबर आयी थी कि उत्तर प्रदेश में जेडीयू चुनाव लड़ने के लिए तैयार तो थी लेकिन पीएम मोदी का समर्थन करने के लिए ही नितीश कुमार ने यूपी में चुनाव ना लड़ने का फैसला ले लिया था. यदि यूपी में जेडीयू भी चुनाव मैदान में उतर जाती तो बीजेपी के वोट कट जाते और बीजेपी का कई सीटों पर जीतना बेहद मुश्किल हो जाता. हाल ही में नितीश कुमार एक बार फिर पीएम मोदी के करीब आये हैं और इसीलिए वो भी चाहते हैं कि बीजेपी यूपी में जीत जाए.

खबर ये भी आ रही है कि यूपी चुनाव ख़त्म होने के बाद नितीश लालू के साथ गठबंधन तोड़ कर बिहार में बीजेपी के साथ गठबंधन करेंगे और जेडीयू-बीजेपी सरकार बनाएगी. बताया जा रहा है कि नितीश कुमार लालू के काम करने के तरीकों से खुश नहीं हैं. लालू के राज में बिहार में गुंडा राज लौट आया है और इसे चक्कर में नितीश का नाम खराब हो रहा है. वहीँ लालू खुद नितीश की जगह अपने बेटे को मुख्यमंत्री बनाने के सपने देख रहे हैं.

82 लोगों के इस्तीफे के बाद से जेडीयू और आरजेडी के गठबंधन पर भी ख़तरा मंडराने लगा है. कहा जा रहा है कि किसी भी वक़्त ये गठबंधन टूट सकता है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments