Home > ख़बरें > सीआरपीएफ ने दिखाया अपना रौद्र रूप तो मौत की आहट भाँप गए नक्सली, टूट गयी माओवादियों की कमर !

सीआरपीएफ ने दिखाया अपना रौद्र रूप तो मौत की आहट भाँप गए नक्सली, टूट गयी माओवादियों की कमर !

jharkhand-maoists-surrender

लोहरगादा : अभी हाल ही में सुकमा में हुए नक्सली हमले में 25 जवान शहीद हो गए थे, जिसके बाद मोदी सरकार की ओर से सीआरपीएफ को खुली छूट दिए जाने के बाद बड़े पैमाने पर नक्सलियों के सफाये का ऑपरेशन शुरू किया गया था. सीआरपीएफ के इस ऑपरेशन के परिणाम आने शुरू भी हो गए हैं. इसी कड़ी में अब कई अहम् ख़बरें सामने आ रही हैं.


इनामी नक्सलियों ने किया सरेंडर !

सबसे बड़ी खबर झारखंड से सामने आयी है, अपनी मौत को सामने देख भीषण रक्तपात मचाने वाले दो इनामी नक्सलियों ने यहाँ सरेंडर कर दिया. लगभग 25 सालों से नक्सल गतिविधियों में शामिल और 150 से अधिक मामलों में वांछित बिहार रीजनल कमाण्डर नकुल यादव पर पुलिस ने 15 लाख रुपये का इनाम घोषित किया हुआ था. 47 साल के नकुल यादव के खिलाफ लोहरदगा के अलग-अलग थाना इलाके में 54 मामले दर्ज हैं.

वहीँ दुसरे नक्सली का नाम मदन यादव है जो भाकपा माओवादी संगठन में जोनल कमांडर था. मदन के खिलाफ भी दर्जनों मामले दर्ज हैं और पुलिस ने मदन के ऊपर 5 लाख रूपये का इनाम घोषित किया हुआ था. बताया जा रहा है कि इन दो बड़े नक्सलियों के सरेंडर ने माओवादियों की कमर तोड़ दी है. इन्हें देखकर अब कई नक्सली सरेंडर करेंगे.


भारी मात्रा में हथियार बरामद !

सरेंडर करने के बाद पूछताछ में नक्सली नकुल ने पुलिस के सामने कई अहम् खुलासे किया हैं. नकुल के निशानदेही पर सुरक्षाबलों ने एंटी नक्सल ऑपरेशन के दौरान बड़ी मात्रा में हथियार भी बरामद किये हैं. सुरक्षाबलों ने एक 7.62 एलएमजी, एक सेमी आटोमेटिक राइफल, दो 303 बोर राइफल, एक एसएलआर राइफल, 3 इंसास राइफल और 3000 से अधिक गोलियां बरामद की हैं. इसके अलावा सुरक्षाबलों ने कोडेक्स वायर, चार्जर, वॉकी टॉकी और कपडे भी बरामद किए हैं.

सरेंडर करने के बाद नकुल ने अपने नक्सली साथियों से भी मुख्यधारा में लौटने आह्वान किया है. दरअसल देशभर में नक्सलियों के खिलाफ बड़े पैमाने पर अभियान चल रहा है, ऐसे में नक्सलियों के सामने केवल दो ही रास्ते बचे है या तो वो सरेंडर करके कानून की शरण में आ जाएँ या फिर मरने के लिए तैयार रहें.

मोदी सरकार ने भी नक्सलियों के खिलाफ बेहद सख्त रुख अपनाया हुआ है और नक्सलियों को जड़ से ख़त्म करने के निर्देश जारी किये हुए हैं. हज़ारों की संख्या में सीआरपीएफ और पुलिस के जवान नक्सलियों की तालाश में लगे हुए हैं. जो सरेंडर कर रहा है उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है, जिसकी मंशा समर्पण करने की नहीं है, उनका सफ़ाए किया जा रहा है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments