Home > कारोबार > खुशखबरी : अब भारत में सिर्फ 30-40 रुपए में मिलने लगेगा पेट्रोल और डीजल

खुशखबरी : अब भारत में सिर्फ 30-40 रुपए में मिलने लगेगा पेट्रोल और डीजल

green technique

नई दिल्ली। दिन प्रतिदिन देश मे पेट्रोल और डीज़ल के दाम बढ़ते ही जा रहे हैं मगर अब इन बढ़ती कीमतों से परेशान होने के दिन ख़त्म होने वाले हैं। क्युकि भारत नें भी जर्मनी और अमेरिका की तरह प्लास्टिक के कूड़े से पेट्रोल और डीज़ल बनाने की तकनीक विकसित कर ली है। प्लास्टिक का कूड़ा भी एक बड़ा सर दर्द है क्युकि ये कभी पूरी तरह नष्ट नहीं होता मगर इस तकनीक से प्लास्टिक का कूड़ा अब उपयोगी बन जायेगा। इस तकनीक से बना पेट्रोल ज्यादा अच्छी क्वालिटी का होता है और इसे बनाने में बहुत अधिक खर्च भी नहीं आता है।

सिर्फ जर्मनी और अमेरिका के पास थीं ग्रीन तकनीक

अभी तक तो सिर्फ जर्मनी और अमेरिका ही इस प्रकार से पेट्रोल – डीज़ल बना पाते थे मगर अब भारत के पास भी ये तकनीक आ गयी है। इस प्रकार से कूड़े को ईंधन में परिवर्तित करने की तकनीक ग्रीन तकनीक कहलाती है। देहरादून के भारतीय पेट्रोलियम संस्थान ने इस तकनीक को विकसित किया है। इसमें प्लास्टिक के कूड़े मे कुछ कैटेलिस्ट मिलाकर गैसोलीन, पेट्रोल, डीज़ल या एलपीजी मे बदल दिया जाता है। क्युकि इसे बनाने में खर्च काफी काम आता है इसीलिए जानकारों का मानना की इससे बनने वाले पेट्रोल और डीज़ल की कीमत 30 रुपये से 40 रुपये के करीब ही होगी। है ना ये एक ख़ुशी की बात।

अब आपकी बारी

आपके हिसाब से कितने समय में ये तकनीक से बना पेट्रोल बाजार मे बिकने लगेगा? अपने विचार कमेंट के माध्यम से हमें जरूर बताएं।


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments