Home > मुख्य ख़बरें > ब्रेकिंग- उत्तराखंड में अपनी हार स्वीकार की कांग्रेस ने, हार का ठीकरा राहुल के सर ?

ब्रेकिंग- उत्तराखंड में अपनी हार स्वीकार की कांग्रेस ने, हार का ठीकरा राहुल के सर ?

uttarakhand-election-rahul-modi

नई दिल्ली : उत्‍तराखंड में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग हो चुकी है. हार या जीत के नतीजे तो 11 मार्च को आएंगे लेकिन कांग्रेस के सूत्रों के मुताबिक़ पीएम मोदी की लहर के कारण कांग्रेस ये चुनाव बुरी तरह हारने वाली है और ये बात पार्टी के वरिष्ठ नेता भी जानते हैं. 2014 लोकसभा चुनाव की तरह इस बार भी पीएम मोदी का जादू चल गया है.

राहुल गांधी ने हरवाया कांग्रेस को?

सूत्रों के मुताबिक़ वोटरों के रुझान को देखने के बाद कांग्रेस को पता चल चुका है कि वो हारने वाले हैं और कांग्रेस के वॉर रुम में अब हार के कारणों को खंगालने का दौर चल पड़ा है. हर उस पहलु को जांचा-परखा जा रहा है जिसका फायदा चुनाव में उठाया जा सकता था. पार्टी के सूत्रों की मानें तो कांग्रेस नेताआें का मानना है कि उत्‍तराखंड चुनाव में कांग्रेस की चुनाव प्रबंधन टीम अपना काम करना देर से शुरु किया.

हार का ठीकरा राहुल गांधी के सर भी फोड़ा जा सकता है. पार्टी के विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक़ उत्तराखंड कांग्रेस नेताओं का मानना है कि पार्टी ने सारा फोकस राहुल गांधी की रैलियों पर किया. अन्य जगहों पर दूसरे बड़े नेताओं की रैली करवा कर भी माहौल को अपने पक्ष में किया जा सकता था लेकिन पार्टी आलाकमान ने ऐसा नहीं किया.

पार्टी के अंदर शुरू हुई सुगबुगाहट इस बात के स्पष्ट संकेत दे रही है कि कांग्रेस को भी पता है कि विधानसभा चुनावों में उन्होंने क्या किया जोकि वोटरों को लुभाने के लिए पर्याप्त भी नहीं रहा. खबर ये भी है कि उत्‍तराखंड कांग्रेस के कई नेता पार्टी के स्‍टार प्रचारकों की लिस्‍ट से भी नाखुश थे, क्योंकि जिन नेताओं की मांग उन्होंने की थी उन्हें प्रचार की जिम्मेदारी ना देकर दूसरे नेताओं को ये जिम्मेदारी सौंप दी गयी.


पार्टी के अंदर जूतम-पैजात

पार्टी आलाकमान की गलतियों के अलावा उत्‍तराखंड कांग्रेस कमेटी के कई नेताओं ने भी चुनावो में कई गलतियां की हैं जिनके कारण कांग्रेस हार का मुह देखने वाली है. पार्टी के सूत्रों के मुताबिक़ पूर्व केन्द्रीय मंत्री कुमारी शैलजा, कांग्रेस पार्टी सचिव अविनाश पांडे और हिमाचल प्रदेश के मंत्री बीएस बाली ने पार्टी आलाकमान से उत्‍तराखंड कांग्रेस कमेटी के कुप्रबंधन की शिकायत भी की है.

ये वही नेता हैं जिनके कन्धों पर राहुल गांधी की रैलियों की जिम्मेदारी थी लेकिन इन्हें कार्यक्रमों और चुनाव प्रबंधन में कई कमिया नज़र आयीं. राहुल की रैलियों से जुडी रिपोर्ट उत्‍तराखंड प्रभारी अंबिका सोनी को सौंपी गई है, जिसके बाद अंबिका सोनी ने उन नेताओं के नाम मांगे हैं जिन्होंने चुनाव में अपनी जिम्मेदारियां ठीक से नहीं निभायीं.

पार्टी के अंदर हो रही तूतू-मैंमैं ये साफ़ दिखा रही है कि ऊपर-ऊपर से जीत के दावे करने वाली कांग्रेस अंदर-अंदर खुद को बड़ी हार सहने के लिए तैयार कर रही है. राष्ट्रीय स्तर के नेता इसका ठीकरा उत्तराखंड के नेताओं के सर फोड़ना चाहते हैं और उत्तराखंड के नेता हार का ठीकरा राहुल गांधी के सर फोड़ने के लिए तैयार बैठे हैं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments