Home > मुख्य ख़बरें > प्रदेश के विकास के लिए योगी सरकार के एक फैसले से पूरे देश में बजा यूपी का डंका, ख़ुशी से चहक उठे मोदी

प्रदेश के विकास के लिए योगी सरकार के एक फैसले से पूरे देश में बजा यूपी का डंका, ख़ुशी से चहक उठे मोदी

up-bus-location-tracking

लखनऊ : यूपी में मुख्यमंत्री पद सँभालने के बाद से बिना रुके-थके सीएम योगी आदित्यनाथ ताबड़तोड़ फैसले लेते जा रहे हैं. प्रशासन और पुलिस को दुरुस्त करने के साथ-साथ अब योगी सरकार यूपी के विकास के लिए काम करना शुरू हो गयी. अभी-अभी आयी ऐसी ही एक खबर बेहद ही सुखद है जिसे देख देशभर में योगी सरकार और यूपी का डंका बज रहा है.


घर बैठे बसों के लोकेशन की जानकारी !

जैसा कि आप जानते ही होंगे कि प्लेन और ट्रेन के लोकेशन की जानकारी तो लोगों को घर बैठे ही मिल जाती है लेकिन यूपी में तो अब जल्द ही रोडवेज बसों के लोकेशन की जानकारी भी आपको घर बैठे ही मिल जाया करेगी. रोडवेज की साधारण व एसी बसों में यात्रा करने वाले यात्रियों और उनके परिजनों के लिए ये बेहद अच्छी खबर है.

जैसे रेलवे में ट्रैन किस स्टेशन तक पहुची इस बात की जानकारी ऑनलाइन वेबसाइट व् मोबाइल एप से मिल जाती है, ठीक उसी की तर्ज पर परिवहन निगम प्रबंधन ने यूपी रोडवेज की बसों के लोकेशन की जानकारी को ऑनलाइन वेबसाइट व् मोबाइल एप के जरिये से उपलब्ध कराने के लिए एक सर्च इंजन तैयार करने का फैसला किया है.

ऑनलाइन वेबसाइट व् मोबाइल एप !

ख़बरों के मुताबिक़ परिवहन राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार स्वतंत्र देव सिंह ने 15 अप्रैल तक इस व्यवस्था को शुरू करने के निर्देश दे दिए हैं. परिवहन निगम से सम्बंधित कंपनी ट्राईमैक्स वेहिकल ट्रैकिंग सिस्टम से मिलने वाली लोकेशन की जानकारी सर्च इंजन पर अपलोड कर दी जायेगी, इसके लिए सर्च इंजन तैयार किया जान शुरू कर भी दिया गया है.


विभिन्न बस अड्डों से संचालित बस के जरिये सफर करने वाले यात्रियों व् उनके परिजनों को बस लोकेशन की जानकारी ऑनलाइन वेबसाइट व् मोबाइल एप से मिल जाया करेगी. इसके लिए आपको मोबाइल एप या फिर परिवहन निगम की वेबसाइट upsrtc.com पर उपलब्ध लोकेशन फाइंडर सर्च इंजन में बस का नंबर डाल कर सर्च करना होगा. जिसके बाद आपको बस की वेहिकल ट्रेकिंग सिस्टम (VTS) के माध्यम से पूरी लोकेशन मिलेगी.

इस सुविधा के शुरू होने के बाद यात्री घर बैठे बस की लोकेशन की जानकारी प्राप्त करने के बाद बिना इंतजार के बस अड्डे जाकर अपनी बस पकड़ सकेंगे. गौरतलब है कि परिवहन निगम की सभी बसों में पहले ही वेहिकल ट्रेकिंग सिस्टम लगाए जा चुके हैं लेकिन अबतक बसों की लोकेशन व् उनकी स्पीड की जानकारी केवल परिवहन निगम मुख्यालय में कंट्रोल कमांड सेंटर को ही मिलती थी.

अबतक परिवहन निगम के अधिकारी ही रोडवेज की बसों की लोकेशन और ओवर स्पीड की जानकारी कंट्रोल रूम से कभी भी पता कर सकते थे, मगर अब यूपी सरकार इस सुविधा का विस्तार करते हुए इसे सर्च इंजन से जोड़कर आम यात्रियों को मोबाइल एप या ऑनलाइन वेबसाइट के जरिये देने की तैयारी में लग गयी है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments