Home > मुख्य ख़बरें > भारतीयों के साथ आये ट्रम्प ने किया पाकिस्तान का बंटाधार, अब कहेगा “हिंदुस्तान जिंदाबाद”

भारतीयों के साथ आये ट्रम्प ने किया पाकिस्तान का बंटाधार, अब कहेगा “हिंदुस्तान जिंदाबाद”

modi-trump

नई दिल्ली : ये पीएम मोदी का ही कमाल है कि कुछ वक़्त पहले तक हर अवसर पर पाकिस्तान का साथ देने वाला अमेरिका आज भारत के साथ कदम से कदम मिला कर खड़ा है. अमेरिकी राष्ट्रपति तो पहले ही कह चुके हैं कि वो भारतियों की बहुत इज्जत करते हैं और अभी-अभी आयी इस बड़ी खबर से आपको भी यकीन हो जाएगा कि अमेरिका के भारत के साथ सम्बन्ध कितने बेहतर हो चुके हैं. भारतीयों को दिक्कतों का सामना ना करना पड़े इसके लिए ट्रम्प अपनी नीतियों में कई बदलाव कर रहे हैं.

पाकिस्तान के गाल पर तमाचा, भारतीयों से प्यार

एक ओर तो अमेरिका कट्टरपंथी पाकिस्तानियों को वीज़ा ही नहीं दे रहा है वहीँ दूसरी ओर भारतीयों को लाभ पहुचाने के लिए व्यापक पैमाने पर योजनाएं बनायी जा रही है. हाल ही में ट्रम्प ने आव्रजन प्रणाली में बदलाव का फैसला किया था जिसके बाद दुनिया के कई देशों में खलबली मच गयी थी, कहा जा रहा था कि भारतियों को अमेरिका में अब नौकरियां नहीं मिल पाएंगी. लेकिन ट्रंप प्रशासन भी भारतीय आईटी पेशेवरों का लोहा मानता है और एक ऐसा रास्ता खोजने में लग गया है जिससे अमेरिका में रोजगार के अवसर भी कम ना हों और भारतीयों को भी कोई परेशानी न हो.


योग्यता के आधार पर अमेरिकी वीज़ा

इसी के तहत ट्रंप ने अब अमेरिका में योग्यता आधारित आव्रजन प्रणाली का समर्थन किया है जिससे ना केवल अमेरिका में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे बल्कि भारतीयों को भी किसी दिक्कत का सामना नहीं करना पडेगा क्योंकि योग्यता के आधार पर भारतीय अमेरिका में आसानी से नौकरी कर पाएंगे. गौरतलब है कि इसके ठीक उलट भारत में अभी भी जाती और धर्म के आधार पर रिजर्वेशन दिया जाता है, जिससे कई योग्य लोगों को रोजगार के उचित अवसर नहीं मिल पाते.

भारतीय आईटी पेशेवर और उद्यमी भी ट्रंप की इस बेहतरीन योजना का स्वागत कर रहे हैं. एनबीसी न्यूज के मुताबिक़ व्हाइट हाउस के वरिष्ठ नीति सलाहकार स्टीफन मिलर ने कहा है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यह स्पष्ट कर दिया है कि अमेरिका में आव्रजन प्रणाली योग्यता पर आधारित होनी चाहिए. इसके तहत अमेरिका में आने वाले लोग अमेरिकी अर्थव्यवस्था के विकास में अपना योगदान दे पाएंगे और रोजगार के अवसर बढ़ाने में मदद करेंगे. आपको बता दें कि अमेरिका में भारतीय आईटी पेशेवर केवल अमेरिकी अर्थव्यवस्था के विकास में योगदान ही नहीं देते बल्कि उद्यमी बनकर रोजगार के अवसर भी बढ़ाते हैं जिससे अमेरिका को भी आर्थिक लाभ पहुचता है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हमारे साथ सीखिए ब्लॉग लिखना और घर बैठे कमाइए पैसे. तीन दिन का कोर्स ज्वाइन करने के लिए 9990166776 पर Whatsapp करें.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments