Home > मुख्य ख़बरें > भारत-चीन सीमा पर तैनात जवानो के लिए मोदी ने लिया सबसे शानदार फैसला, चीन में मची खलबली

भारत-चीन सीमा पर तैनात जवानो के लिए मोदी ने लिया सबसे शानदार फैसला, चीन में मची खलबली

modi-snow-scooters-itbp

नई दिल्ली : 2014 में लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद से पीएम मोदी लगातार देश की सुरक्षा करने वाले जवानों और देश का पेट भरने वाले किसानों की बेहतरी के लिए काम कर रहे हैं. डोकलाम में घुसपैठ और उसके बाद चीन की ओर से आँखें दिखाने के बाद पीएम मोदी ने एक ऐसी ऐतिहासिक सैन्य डील की है, जिसके बारे में पता चलने के बाद से चीन में खलबली मची हुई है. चीनी मीडिया ने भी पीएम मोदी की इस डील की तारीफ़ की है.


आईटीबीपी के जवानों के लिए स्नो स्कूटर

मोदी सरकार ने सेना के आधुनिकीकरण के लिए हाल ही में 20 हज़ार करोड़ रुपये से ज्यादा की सैन्य डील की है. भारत-चीन सीमा पर तैनात आईटीबीपी के जवानों को बेहद ठन्डे और बर्फ से ढके इलाकों में गश्त लगानी पड़ती है. बर्फीले इलाकों में सैनिकों को ज्यादा परेशानी ना हो और तेज गति से गश्त कर पाएं इसके लिए सरकार ने विशेष स्नो स्कूटर खऱीदे हैं. नापाक चीन की गतिविधियों और घुसपैठ की उसकी कोशिशों पर अब तेजी से नज़र रखी जा सकेगी.

अभी तक तो ऐसे स्नो स्कूटर केवल पर्यटन के लिए ही इस्तमाल होते थे लेकिन अब सेना के जवान भी इनका उपयोग कर सकेंगे. फिलहाल ऐसे पांच स्कूटर ख़रीदे गए हैं जिनका उपयोग लद्दाख, उत्तराखंड और सिक्किम में उंचे स्थानों पर सीमा पर किया जाएगा. इन स्कूटरों को अमेरिका की एक कंपनी से खरीदा गया है और हर स्कूटर की कीमत तकरीबन एक करोड़ रुपये है. इन शक्तिशाली स्कूटरों पर दो जवान राइफल और गोला-बारूद के साथ सफर कर सकते हैं.


मोदी के शानदार कदम की चीन में भी तारीफ़

ये स्नो स्कूटरों का इंजन इतना शक्तिशाली है कि ये किसी पहाड़ी पर 45 डिग्री की ढलान पर भी आसानी से चढ़ सकते हैं. बर्फ पर आसानी से चलने के लिए इनमें चेनकेस बेल्टों से चलने वाला 278 किलोग्राम वजनी इंजन लगा है. इसके अलावा पिछले साल आईटीबीपी को मोदी सरकार से 3 हज़ार 488 किलोमीटर की भारत-चीन सीमा पर गश्त लगाने के लिए 6 दर्जन से ज्यादा एसयूवी भी मिली थी. अब स्नो स्कूटरों के आने से आईटीबीपी की क्षमताएं और भी अधिक बढ़ जाएंगी, वो और भी अधिक प्रभावी ढंग से देश की रक्षा कर पाएंगे.

चीनी मीडिया की ओर से सरकार के इस कदम की काफी तारीफ़ की गयी है. गौरतलब है कि इससे पहले की कांग्रेस सरकार के वक़्त सेना के आधुनिकीकरण की ओर इतना ध्यान नहीं दिया गया. जो थोड़ी बहुत रक्षा सौदे हुए भी उनमे भी करोड़ों के घोटाले के केस अदालत में चल रहे हैं. अभी हाल ही में इटली की कंपनी से हुए हेलीकॉप्टर सौदे में घूस और दलाली के मामले में पूर्व वायुसेना अध्यक्ष जेल भेजे गए थे. इस घोटाले में कथित तौर से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर भी आरोप लगे हैं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments