Home > मुख्य ख़बरें > अमेरिका से आयी अब तक की सबसे बड़ी खबर से दहल उठा पाकिस्तान, मच गयी चीख-पुकार

अमेरिका से आयी अब तक की सबसे बड़ी खबर से दहल उठा पाकिस्तान, मच गयी चीख-पुकार

donald-trump-pakistan

नई दिल्ली : दुनिया भर में अपने आतंकवाद के लिए कुख्यात पाकिस्तान के खिलाफ अब अमेरिका कार्रवाई करने जा रहा है. पाकिस्तानी आतंकियों ने ना केवल भारत बल्कि अफगानिस्तान की भी नाक में दम कर रखा है. कश्मीर पर कब्जा करने के अपने सपने को पूरा करने के लिए पाकिस्तान आतंकवाद का इस्तेमाल करता आया है लेकिन अब अमेरिका से ऐसी खबर आ रही जिसने पाकिस्तान के हड़कंप मचा दिया है.

अमेरिका रोकेगा पाकिस्तान की वित्तीय व् सैन्य सहायता ?

अमरीका के प्रतिरक्षा विभाग के मुख्यालय, पेंटागन के एक पूर्व उच्च अधिकारी ने अमेरिका को पाकिस्तान की चतुराई से बचने के लिए आगाह किया है. उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान को अमेरिका के हितों को कमजोर करने से रोकने के लिए ट्रंप प्रशासन को पाकिस्तान को दिया गया गैर-नाटो सहयोगी का दर्जा निलंबित कर देना चाहिए और उसे दी जाने वाली सभी तरह की सैन्य और वित्तीय सहायता रोक देनी चाहिए.

क्रिस्टोफर डी कोलेंडा 2009 से 2014 तक पेंटागन के वरिष्ठ सलाहकार रह चुके हैं और वर्त्तमान में सीएनएएस में सहायक वरिष्ठ फेलो और सेंटर फॉर ग्लोबल पॉलिसी में एक वरिष्ठ फेलो हैं. उन्होंने अपने एक लेख में अफगानिस्तान में पाकिस्तान की छलपूर्ण नीति के बारे में बताते हुए लिखा है कि सबसे पहले तो ट्रंप प्रशासन को पाकिस्तान को दिया गैर-नाटो सहयोगी का दर्जा निलंबित कर देना चाहिए और साथ ही पाकिस्तान को दी जाने वाली सैन्य और वित्तीय सहायता पर भी रोक लगा देनी चाहिए.

सजा दिये बिना नहीं सुधरने वाला पाकिस्तान ?

द हिल” में प्रकाशित हुए अपने इस लेख में कोलेंडा ने लिखा है कि “अमेरिका को पाकिस्तान के प्रभाव में आना बंद कर देना चाहिए. अमेरिका को अब पाकिस्तान के साथ अपने रिश्तों में गरिमा लानी चाहिए।’’ कोलेंडा ने लिखा है कि “यदि ऐसा करने पर भी पाकिस्तान, अफगान तालिबान के खिलाफ रवैया नहीं अपनाता है तो जरूरत पड़ने पर अमेरिका को अधिक दंडात्मक कार्रवाई करने के लिए भी तैयार रहना चाहिए.’’

अपने लेख में कोलेंडा ने कहा कि 90 के दशक में पाकिस्तान, अमेरिकी नेतृत्व वाली मजबूत प्रतिबंध व्यवस्था के अंतर्गत था लेकिन फिर भी वो भारत के कश्मीर और अफगानिस्तान में विद्रोही गतिविधियों का समर्थन करता रहा और अभी भी पाकिस्तान अपने परमाणु कार्यक्रम को आगे बढ़ा रहा है.

पाकिस्तान में हड़कंप

पेंटागन के वरिष्ठ सलाहकार रह चुके कोलेंडा के लेख के प्रकाशित होने के बाद से पाकिस्तान की घिग्घी बांध गयी है. पाकिस्तानी मीडिया में हड़कंप मचाहुआ है. टीवी चैनलों पर पाकिस्तानी विशेषज्ञ इस लेख पर चर्चाए कर रहे हैं और इसके मतलब निकाले जा रहे हैं. पाकिस्तानी जानकारों के मुताबिक़ अमेरिका में नयी बनी ट्रम्प सरकार आतंवाद के सख्त खिलाफ है, ऐसे में अगर पाकिस्तान ने आतंकवाद का पूरी तरह से अंत नहीं किया तो अमेरिका अपना समर्थन वापस ले लेगा तो पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था तहस-नहस हो जायेगी. ऐसे में बेहतर यही होगा कि आतंकवाद का समर्थन करना अब ख़त्म किया जाए.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments