Home > मुख्य ख़बरें > मेहरबान हुई किस्‍मत, सिर्फ भारत नहीं बल्कि अब पूरे एशिया पर चलेगा पीएम मोदी का राज

मेहरबान हुई किस्‍मत, सिर्फ भारत नहीं बल्कि अब पूरे एशिया पर चलेगा पीएम मोदी का राज

modi-to-rule-asia

नई दिल्ली : 2014 में लोकसभा चुनाव जीतने कर प्रधानमन्त्री बने नरेंद्र मोदी ने इतने कम समय में इतनी अधिक लोकप्रियता हासिल कर ली कि विदेशों तक में उनके नाम और उनके द्वारा किये जा रहे कामों की धूम मची हुई है. अब पीएम मोदी से जुडी एक ऐसी मीडिया रिपोर्ट सामने आयी है जिसे पढ़कर आपकी आँखें फटी रह जाएंगी.


पूरे एशिया का नेतृत्‍व करेंगे मोदी

इस मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ केवल भारत ही नहीं बल्कि जल्‍द ही प्रधानमन्त्री मोदी पूरे एशिया का नेतृत्‍व करते हुए दिखाई देने वाले हैं. गौरतलब है कि अभी तक एशिया का नेतृत्‍व चीन करता रहा है लेकिन स्थिति तेजी से बदल रही है. पीएम मोदी वैश्विक स्तर पर एक बेहद ताकतवर और सबको साथ लेकर चलने वाले नेता के रूप में उभर चुके हैं. वहीँ चीन की सारी अकड़ ट्रंप प्रशासन के आने के बाद निकलती हुई नज़र आ रही है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सत्ता संभालने के बाद कई ऐसे बयान दिए हैं जिसके कारण चीन और अमेरिका के रिश्तों में खटास आ गई है.

अमेरिका और चीन के बीच आये इस मनमुटाव के बाद अब अन्य एशियाई देश आक्रामक चीन और अनिश्चित अमेरिका के बीच संतुलन बनाये रखने वाली शक्तियों की खोज में लग गए हैं. इसके लिए एशियाई देशों की जुबान पर फिलहाल एक ही नाम छाया हुआ है और वो हैं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. गौरतलब है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भारत के पीएम मोदी को अपना दोस्त मानते हैं और दोनों के बीच अच्छे सम्बन्ध भी हैं.

मोदी के मुरीद हैं एशियाई देश

पीएम मोदी के अन्य एशियाई देशों के साथ भी बेहद अच्छे सम्बन्ध हैं और आने वाले कुछ हफ़्तों में वो इन्ही संबंधों को और भी ज्यादा मजबूत करने की योजना पर काम करने जा रहे हैं ताकि नए समझौतों के द्वारा भारत को एशिया में एक नेतृत्वकारी ताकत के रूप में उभारा जा सके. अपनी इसी योजना के तहत अगले कुछ हफ़्तों में पीएम मोदी एक के बाद एक कई देशों के नेताओं के साथ मेल-मुलाकात करने वाले हैं.


कुछ ही वक़्त में भारत वियतनाम के विदेश मंत्री फाम बिन मिन और उप-राष्ट्रपति की मेजबानी करेगा. जिसके बाद मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक भी भारत दौरे पर आएंगे. इसके अलावा इसी वर्ष ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मैल्कम टर्नबुल भी भारत दौरे पर आएंगे. यूपी चुनाव के बाद बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना भी भारत का दौरा करेंगी, जबकि विदेश सचिव एस जयशंकर फिलहाल श्रीलंका, चीन और बांग्लादेश के दौरे पर हैं.

एशिया का सबसे शक्तिशाली देश होगा भारत

एक के बाद एक पड़ोसी देशों के बड़े नेताओं के साथ मुलाक़ात करके पीएम मोदी इन देशों के भारत के साथ संबंधों को और भी अधिक दृढ बनाने की इच्छा रखते हैं. इन्ही मजबूत रिश्तों के आधार पर एशिया में भारत की भूमिका का और भी अधिक विस्तार होगा और आने वाले वक़्त में भारत एशिया के सबसे शक्तिशाली देश के रूप में उभर कर सामने आएगा.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तो सत्ता पर काबिज होते ही ऐसे संकेत दिए हैं जिससे स्पष्ट है कि अमेरिका और चीन के रिश्ते ठंडे ही रहने वाले हैं. हाल ही में डोनाल्ड ट्रम्प ने ओबामा प्रशासन के ट्रांस-पैसिफिक पार्टनरशिप (TPP) से हटते हुए स्पष्ट संकेत दिए हैं कि कुछ प्रमुख क्षेत्रों खासतौर पर व्यापार और शुल्कों पर अमेरिका का रवैया ज्यादा आक्रामक रहेगा. हालांकि भारत के प्रति डोनाल्ड ट्रम्प ने उदार रवैया दिखाया है. ऐसे में पीएम मोदी की कुशल विदेश नीतियों के चलते भारत को एशिया के सभी देशों का सहयोग मिलेगा और भारत एशिया का सबसे शक्तिशाली देश बन जाएगा.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments