Home > मुख्य ख़बरें > बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री ने किया अब तक का सबसे बड़ा ऐलान, बिहार की राजनीति में मचा तहलका

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री ने किया अब तक का सबसे बड़ा ऐलान, बिहार की राजनीति में मचा तहलका

modi-nitish

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव से पहले नितीश कुमार ने बीजेपी से किनारा कर लिया था लेकिन अब जो ख़बरें आ रहीं हैं उनसे लगने लगा है कि बिहार की सत्ता में बड़ा उलटफेर होने वाला है. अभी-अभी आयी इस बड़ी खबर से कांग्रेस में खलबली मच गयी है और लालू यादव भी बेहद परेशान बताये जा रहे हैं.

यूपी चुनाव के बाद नितीश कुमार थामेगे बीजेपी का साथ?

काफी वक़्त से ख़बरें आ रही हैं कि नीतीश कुमार और लालू यादव के बीच मतभेद चल रहे हैं. सोहराबुद्दीन मुद्दे पर लालू और नितीश के बीच पड़ी दरार धीरे-धीरे अब खाई का रूप लेती जा रही है. ख़बरों के मुताबिक़ बिहार सरकार में लालू की दखलंदाजी से नितीश कुमार बेहद खफा हैं. लालू के कारण बिहार में नितीश की छवि खराब होती जा रही है. ऐसे में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और नीतीश कुमार के करीबी रह चुके जीतन राम मांझी ने एक ऐसा दावा कर दिया है जिससे लालू यादव की रातों की नींदें उड़ गयी हैं.

मांझी ने खुलासा करते हुए कहा है कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद बिहार की राजनीति में बड़ा बदलाव आएगा और नीतीश कुमार महागठबंधन तोड़ के एक बार फिर से एनडीए में शामिल हो जाएंगे. मांझी ने धनबाद में पत्रकार वार्ता के दौरान नीतीश को बेहद सुलझे हुए नेता बताते हुए कहा कि नितीश कुमार हमेशा अपने सभी विकल्प खुले रखते हैं.

यूपी चुनाव में नितीश ने की मोदी की मदद

मांझी ने खुलासा किया कि नीतीश कुमार ने बीजेपी के खिलाफ उत्तर प्रदेश चुनाव में अपने उम्मीदवार भी इसीलिए नहीं उतारे ताकि बीजेपी के वोट ना कट जाएँ. मांझी के मुताबिक़ नीतीश कुमार बीजेपी से इसलिए अलग हुए थे क्योंकि उन्हे लगा था कि वो प्रधानमन्त्री बन सकते हैं. लेकिन नितीश कुमार अब इस बात को समझ चुके हैं कि राष्ट्रीय स्तर पर अभी वो इतने लोकप्रिय नहीं हुए हैं कि देश के प्रधानमन्त्री बन पाएं.

ऐसे मे वो एक बार फिर बीजेपी के करीब आ रहे हैं. मांझी ने बताया कि राजनीति में लोग सदा-सदा के लिए दुश्मन नहीं होते हैं. बदलते वक़्त के साथ कई दुश्मन भी दोस्त बन जाते हैं. अभी हाल ही में पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले पर भी नितीश कुमार ने मोदी का साथ दिया था और उनकी तारीफ़ भी की थी. जिसके बाद सारी स्थिति को समझते हुए पीएम मोदी ने भी नितीश कुमार के शराबबंदी के फैसले की तारीफ़ की थी.

मांझी के मुताबिक़ यूपी चुनाव ख़त्म होने के बाद बिहार में भी जेडीयू-बीजेपी की सरकार बनेगी और लालू यादव देखते रह जाएंगे. मांझी ने कहा कि भले ही ऊपर-ऊपर से सब ठीक लग रहा हो लेकिन महागठबंधन में अंदर ही अंदर कलह की चिंगारी तेजी से सुलग रही है. नितीश कुमार अब महागठबंधन तोड़ के बीजेपी के साथ आने के लिए बहाना तलाश रहे हैं. महागठबंधन टूटते ही लालू के बेटों का भी राजनीतिक सफर ख़त्म हो जाएगा और नितीश कुमार बीजेपी के साथ मिलकर बिहार के विकास में लग जाएंगे.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments