Home > मुख्य ख़बरें > अमृतसर की गली में खड़े होकर लाहौर को तबाह कर सकता है भारत का ये राकेट, काँपा पाकिस्तान

अमृतसर की गली में खड़े होकर लाहौर को तबाह कर सकता है भारत का ये राकेट, काँपा पाकिस्तान

pinaka_multi_barrel_rocket_launcher

नई दिल्ली : पीएम मोदी के पूरे प्रयास रहे हैं कि भारत की सैन्य शक्ति को इतना ताकतवर बना दिया जाए कि दुश्मन आँख उठा कर देखने से पहले भी सौ बार सोचे. किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए सेना के पास शक्तिशाली हथियार हों. इसी के तहत अब एक बड़ी खबर आयी है जिसे देख पाकिस्तान भी थर-थर काँप उठा है.

मल्टी बैरल रॉकेट लॉन्चर सिस्टम “पिनाका”

कांग्रेस के वक़्त भारत को आँखें दिखाने वाले पाकिस्तान ने अब यदि भारत के खिलाफ एक भी गलत हरकत की तो उसकी खैर नहीं. भारतीय सेना ने हाल ही में अपने मल्टी बैरल रॉकेट लॉन्चर सिस्टम “पिनाका” के उन्नत संस्करण का सफल परीक्षण कर लिया है. पिनाका की हमला करने की रेंज पहले बोफोर्स तोप के बराबर यानी तकरीबन 40 किलोमीटर थी, लेकिन अब डीआरडीओ ने इसे अपग्रेड करके इसके हमला करने की रेंज को 60 किलोमीटर तक बढ़ा दिया है.

अपग्रेड होने के बाद अब पिनाका की मारक क्षमता काफी बढ़ गई है. नया अपग्रेडेड पिनाका अब हर 3 सेकेंड में एक राकेट दाग सकता है जोकि 70 किलोमीटर के दायरे में बेहद सटीक निशाने पर गिरके तबाही मचा देता है. सबसे ख़ास बात तो ये है कि हमला करने के लिए पिनाका को युद्ध भूमि में होने की भी जरुरत नहीं, इसे भारत के किसी मौहल्लें की सड़क से भी इस्तेमाल करके राकेट छोड़े जा सकते हैं.

बिना बॉर्डर पार किये सर्जिकल स्ट्राइक

यानी पाकिस्तान के साथ यदि युद्ध होता है तो अमृतसर के किसी मौहल्ले की सड़क से भी ये बेहद घातक हमला करके करीब 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पाकिस्तान के लाहौर शहर में तबाही मचा सकता है. इतनी लंबी दूरी की मारक क्षमता होने के कारण इसके लिए कहा जा रहा है कि इससे भारतीय सेना बिना बॉर्डर पार किये भी पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक कर सकती है. पिनाका की एक और ख़ास बात ये भी है कि ये एक टाटा ट्रक पर फिट हो जाता है. ये ट्रक बड़े आराम से किसी भी मामूली सड़क पर जा सकता है. इसी के साथ ये ट्रक इतना शक्तिशाली होता है कि पहाड़ियों पर भी आसानी से चढ़ सकता है.

पिनाका के बारे में बताया जा रहा है कि इसे शहर के किसी चौराहे पर खड़ा कर दिया जाए तो अपनी जगह से बिना हिले तीन दिशाओं में हमला कर सकता है. पहाड़ी लड़ाई में पिनाका बेहद असरदार है. पाकिस्तान के साथ हुए कारगिल युद्ध में भी पिनाका के पुराने संस्करण ने बेहद अहम् भूमिका निभायी थी और पहाड़ों में छिपे पाकिस्तानी सैनिकों के कई ठिकाने ध्वस्त कर दिए थे.

कारगिल युद्ध में किये थे पाकिस्तान के दांत खट्टे

रात में आसमान में पिनाका एक अग्नि रेखा बनाता हुआ पाकिस्तानी ठिकानों को तबाह का देता था. अब इसी पिनाका को अपग्रेड करके और भी ज्यादा घातक बना दिया गया है. हाल ही में भारतीय सेना ने जैसलमेर के पोखरण फील्ड फायरिंग रेन्ज में नए अपग्रेडेड पिनाका का परीक्षण किया, जिसमे पिनाका ने 70 किलोमीटर दूर अपने लक्ष्य पर अचूक निशाने लगाते हुए उन्हें तबाह कर दिया.

पिनाका के सॉफ्टवेयर में भी कई बदलाव किये गए हैं, पिनाका से 44 सेकंड में एक के बाद एक 12 रॉकेट दागे जा सकते है. इसके अलावा अब इसका इस्तेमाल माईनस 10 डिग्री के बेहद काम तापमान से लेकर 55 डिग्री के उच्च स्तरीय तापमान पर भी किया जा सकता हैं, यानी मौसम चाहे जो हो यदि दुश्मन ने हमला किया तो पिनाका दुश्मन देश में तबाही मचाने के लिए हर वक़्त तैयार है.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments