Home > मुख्य ख़बरें > मोदी ने दिए हाहाकारी आदेश तो कुछ घंटों में ही फस गया देश का ये बड़ा नेता, देश की राजनीति में मचा हड़कंप !

मोदी ने दिए हाहाकारी आदेश तो कुछ घंटों में ही फस गया देश का ये बड़ा नेता, देश की राजनीति में मचा हड़कंप !

modi-bhujbal-caught

नई दिल्ली : पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री बनने से पहले देश से वादा किया था कि वो देशहित के लिए कड़े से कड़े फैसले लेने से भी नहीं चूकेंगे. चाहे राजा हो या रंक यदि गलत काम किया है तो सजा जरूर मिलेगी, ऊंचे ओहदे और रुतबे का दबाव उनपर नहीं चलने वाला. इसी सिलसिले में अभी-अभी एक ऐसी सनसनीखेज खबर सामने आयी है, जिसने देश की राजनीति में जोरदार हड़कंप मचा दिया है.

शिकंजे में आये एनसीपी के वरिष्ठ नेता !

कुछ वक़्त पहले तक देश के कई लोगों को लगता था कि नोटबंदी से कुछ नहीं होगा, छोटे लोग फसेंगे और बड़े-बड़े सफेदपोश बिजनेसमैन और नेता अपने ऊंचे पद और रुतबे के कारण साफ़ बच निकलेंगे. लेकिन इस खबर के बाद उनकी ये धारणा सदा के लिए बदल जायेगी.

खबर आयी है कि एनसीपी के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री छगन भुजबल पर अब पीएम मोदी की गाज गिरी है. पीएम मोदी ने नोटबंदी के अगले चरण के रूप में आपरेशन ब्लैकमनी की शुरुआत की है, जिसके तहत आज शनिवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने देश के 100 से ज्यादा शहरों में कई जगहों पर एक साथ छापेमारी की.

700 फ़र्ज़ी कंपनियों का पर्दाफाश !

मुंबई में छापेमारी के दौरान ईडी ने भुजबल के लिए कालेधन को सफेद करने वाली 700 फ़र्ज़ी कंपनियों का पर्दाफाश किया है. इन कंपनियों में फर्जी डायरेक्टरों की नियुक्ति का भी खुलासा हुआ है. दरअसल कुछ ही वक़्त पहले ईडी ने मुंबई में कई ठिकानों पर छापेमारी करके कई अहम दस्तावेज बरामद किये थे. जिसके बाद एक देशव्यापी अभियान चलाकर आज मुंबई में फिर से छापेमारी की गयी.

छापेमारी के दौरान ईडी ने कई एंट्री ऑपरेटरों के साथ-साथ 20 फ़र्ज़ी डायरेक्टर भी बेनकाब किए हैं. ईडी को पता चला कि 700 शेल कंपनियों ने छगन भुजबल के लिए 46.7 करोड़ रुपये के कालेधन को सफेद किया था. जिसके बाद अब इन सभी कंपनियों की कड़ी जांच की जा रही है.

फस सकते हैं कई सफेदपोश नेता व् बिजनेसमैन !

आपको बता दें कि पीएम मोदी के निर्देश के बाद आज सरकार ने नोटबंदी के अगले चरण आपरेशन ब्लैकमनी को शुरू किया है. जिसके तहत ईडी ने आज देश के 100 से ज्यादा शहरों में 300 से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी की है. खासतौर पर दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बंगलुरु, भुवनेश्वर और कोलकाता जैसे बड़े शहरों में छापे मारे जा रहे हैं.

ईडी कालेधन को सफ़ेद करने में लगी फ़र्ज़ी कंपनियों को बेनकाब करने के लिए छापेमारी कर रही है. सूत्रों के मुताबिक़ देशभर की लगभग 300 ऐसी कंपनियां ईडी के रेडार पर हैं, जिन्होंने नोटबंदी के दौरान अरबों के कालेधन को सफ़ेद किया था. ऐसी कंपनियों पर छापेमारी करके सभी दस्तावेजों की भी बारीकी से जांच की जा रही है ताकि कोई भी बच निकलने ना पाए. बताया जा रहा है कि अभी कई और सफेदपोश बिजनेसमैन व् नेताओं का नाम कालेधन की धांधली के इस खेल में सामने आ सकता है.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments