Home > मुख्य ख़बरें > भारत में आतंक फैलाने वाले पाकिस्तान को मिला उसकी करतूतों का फल, रोने लगे नवाज

भारत में आतंक फैलाने वाले पाकिस्तान को मिला उसकी करतूतों का फल, रोने लगे नवाज

pakistan-china-president

नई दिल्ली : भारत के कश्मीर पर कब्जा करने के लिए चीन की मदद मांगने वाले पाकिस्तान को अब अपने पापों का फल भुगतना पड़ रहा है. आतंक के कारण पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था पस्त हो चुकी है और उस पर चीन का 56 बिलियन डॉलर का कर्ज हो चुका है. इसके साथ ही चीन ने पाकिस्तान के प्रशासनिक मामलों में सीधा हस्तक्षेप भी शुरु कर दिया है. नवाज इस बात से बेहद दुखी और परेशान है क्योंकि वो चाह कर भी इस बारे अब कुछ कर नहीं पा रहे.


गुलाम बनने की ओर पाकिस्तान

चीन की इस कार्रवाई से सीनेटरों की आशंका सही साबित होती जा रही है. पिछले साल नवंबर-दिसंबर में सीनेटरों ने नवाज़ शरीफ सरकार को चेतावनी दी थी कि ईस्ट इंडिया कंपनी की तर्ज पर चाहें द्वारा पाकिस्तान को गुलाम बनाने जा रहा है. लेकिन तब नवाज़ शरीफ ने सीनेटरों की एक ना सुनी और अब बात नवाज शरीफ के हाथ से निकल चुकी है. पाकिस्तान में आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई के बहाने से शी जिन पिंग नवाज़ शरीफ पर ही अंकुश कसने जा रहे हैं.

हाल ही में आतंकी हाफिज़ सईद को गिरफ्तार भी शी जिनपिंग के कहने पर ही किया गया था और अब आतंकियों पर कार्रवाई के लिए चीन के उप-प्रधानमंत्री शेंग ग्वोपिंग सीधे इस्लामाबाद आ रहे हैं. ग्वोपिंग 6 फरवरी को इस्लामाबाद आएंगे और 9 फरवरी तक रहेंगे. इसके बाद पाकिस्तानी सरकार चीन के एक नुमाइंदे के दिशा-निर्देशन पर आतंक के खिलाफ कार्रवाई करेगी. ये नुमाइंदा पाकिस्तान को नहीं बल्कि सीधे चीन सरकार को रिपोर्ट करेगा. यानी अब चीन के कहने पर ये निश्चित होगा कि पाकिस्तानी सैनिक किस पर गोली चलाएंगे.


चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने शेंग ग्वोपिंग के इस्लामाबाद जाने की पुष्टि की है. पाकिस्तानी सरकार के रोजमर्रा के कामकाज में भी चीन का दखल बढ़ने की खबरों के बारे में आतंकी सरगना हाफिज सईद को भी पता था. इसीलिए उसने अपनी नजरबंदी से पहले चीन के खिलाफ जहर उगलना शुरु कर दिया था, लेकिन आईएसआई के दवाब के कारण उसने सफाई भी दी थी.

एक तरफ बलूचिस्तान में चीन का अरबों का निवेश और दूसरी तरफ चीनी सेना बलूचिस्तान में अपने लोगों की रक्षा के नाम पर घुसपैठ कर ही चुकी है. और अब पाकिस्तानी प्रशासन भी चीन के निर्देश पर काम करेगा. अपनी गुलामी की राह में पाकिस्तान इतना आगे निकल चुका है कि अब पीछे लौटना संभव ही नहीं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments